दिल्ली स्पोर्ट्स स्कूल में कल से दाखिले की प्रक्रिया शुरू, इससे पहले जान लें जरूरी बात

दिल्ली स्पोर्ट्स स्कूल में 22 जून से दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो रही है। इसके माध्यम से दिल्ली सरकार का उद्देश्य कम उम्र से ही खेल प्रतिभाओं को संवारना और उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं के लिए तैयार करना है। वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दाखिले से जुड़ी कुछ अहम बातें बताईं।

Created By : Shiv Kumar on :21-06-2022 15:53:35 दिल्ली स्पोर्ट्स स्कूल खबर सुनें

देश रोजाना, नई दिल्ली
केजरीवाल सरकार का कहना है कि वो दिल्ली में स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। इस दिशा में सरकार द्वारा स्थापित किए गए ‘दिल्ली स्पोर्ट्स स्कूल’ में 22 जून से दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो रही है। दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी द्वारा संचालित दिल्ली स्पोर्ट्स स्कूल के माध्यम से सरकार का उद्देश्य कम उम्र से ही खेल प्रतिभाओं को संवारना और उन्हें वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं व ट्रेनिंग देते हुए अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं के लिए तैयार करना है। इस बाबत उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार दिल्ली को देश का स्पोर्ट्स कैपिटल बनाने के लिए प्रतिबद्ध है और हम अपने स्पोर्ट्स स्कूल के लिए देश के हर हिस्से से ऐसी खेल प्रतिभाएं खोजेंगे जो भविष्य में देश के लिए ओलम्पिक पदक जीत कर लाएंगे।

ये भी पढ़ें

रोज करें योग और रहें निरोग: संदीप शर्मा

आपको बता दें कि दिल्ली स्पोर्ट्स स्कूल में एडमिशन के लिए दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी देश के विभिन्न राज्यों में टैलेंट स्काउटिंग कैंप आयोजित करने जा रही है। दिल्ली स्पोर्ट्स स्कूल में प्रवेश पाने के इच्छुक सभी छात्रों को टैलेंट स्काउटिंग की प्रक्रिया से गुजरना होगा। उन्हें पहले http://dsu.ac.in/registration लिंक पर जाकर ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 22 जून 2022 से 5 जुलाई 2022 तक चलेगी। रजिस्ट्रेशन बंद होने के बाद, मेरिट के आधार पर छात्रों की एक सूची तैयार की जाएगी। फिर इन छात्रों को टैलेंट स्काउटिंग कैंप में आमंत्रित किया जाएगा जहां वे स्पोर्ट्स स्पेसिफिक परीक्षणों के साथ-साथ मोटर टेस्ट जैसे विभिन्न परीक्षणों से गुजरेंगे। इन परीक्षणों को पास करने के बाद, शॉर्टलिस्ट किए गए छात्रों को दिल्ली आमंत्रित किया जाएगा और यहां स्पोर्ट्स साइंस सेंटर में उनके अन्य टेस्ट होंगे। इसके बाद अंतिम चयन से पहले, छात्रों को कुछ मेडिकल टेस्ट से गुजरना होगा।

ये भी पढ़ें

संकट में महाराष्ट्र की उद्धव सरकार! शिंदे सहित शिवसेना के 18 विधायकों ने गुजरात में डाला डेरा, सीएम करेंगे मीटिंग

इसके बाद अंतिम रूप से चयनित छात्रों को फाइनल एनरोलमेंट का ऑफर दिया जाएगा। ये स्कूल कक्षा 6 से 12वीं के लिए होगा तथा इस सत्र में स्कूल में कक्षा 6 से 9वीं तक के लिए एडमिशन लिए जाएंगे। यह को-एड स्कूल पूरी तरह से रेजिडेंशियल होगा तथा यहां छात्र व छात्राओं के लिए अलग-अलग हॉस्टल होंगे। स्कूल में स्टूडेंट्स को 10 चुने गए ओलंपिक खेलों के लिए स्पोर्ट्स ट्रेनिंग व सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी जिसमें: आर्चरी, एथलेटिक्स, बैडमिंटन, शूटिंग, वेटलिफ्टिंग, रेसलिंग, बॉक्सिंग, स्विमिंग, टेबल टेनिस और लॉन टेनिस शामिल है। इस स्कूल का उद्देश्य एक स्पेशलाइज्ड और अनुकूलित स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड करिकुलम के माध्यम से स्टूडेंट्स के सर्वंगीण विकास को सुनिश्चित करते हुए उन्हें खेल चैंपियन के रूप में तैयार करना है।

Share On