कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेंगे गहलोत, बोले- सोनिया गांधी से मांगी माफी, मुख्यमंत्री पद पर भी संशय

सोनिया गांधी से भेंट के बाद अशोक गहलोत के तेवर एकदम नरम पड़ गए हैं। बैठक के बाद निकले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि उन्होंने सोनिया गांधी से राजस्थान की घटना को लेकर माफी मांग ली है।

Created By : Kaushal Kumar on :29-09-2022 17:11:41 अशोक गहलोत खबर सुनें

एजेंसी, नई दिल्ली
सोनिया गांधी से भेंट के बाद से अशोक गहलोत के तेवर एकदम नरम पड़े हुए दिखाई दे रहे हैं। गुरुवार को करीब दो घंटे तक चली बैठक के बाद निकले अशोक गहलोत ने कहा कि उन्होंने सोनिया गांधी से राजस्थान की घटना पर माफी मांग ली है। अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस में उन्हें पिछले 50 वर्षों से सम्मान मिलता रहा है। सदैव उनपर विश्वास करके जिम्मेदारी दी गई। इंदिरा गांधी, राजीव गांधी से लेकर आज तक उन पर विश्वास रखा गया। कांग्रेस महासचिव से लेकर तीसरी बार सीएम बनने तक की यात्रा हाईकमान के आशीर्वाद से ही रही है। इसके अलावा अशोक गहलोत ने कहा कि अब जो स्थितियां बनी हैं, उसमें वह कांग्रेस अध्यक्ष पद पर चुनाव नहीं लड़ेंगे।

ये भी पढ़ें

दिग्विजय सिंह को मौका, अशोक गहलोत को भेंट के लिए समय मिलने का इंतजार, क्या है सोनिया गांधी की योजना

गहलोत ने बताया कि रविवार को जो घटना घटी थी, उसने उन्हें हिलाकर रख दिया है। इससे यह मैसेज गया कि जैसे सीएम बना रहना चाहता हूं। इसे लेकर उन्होंने सोनिया गांधी से माफी मांगी है। हमारे यहां एक लाइन का प्रस्ताव पारित करने का तो प्रस्ताव रहा ही है। दुर्भाग्य की बात रही कि वो प्रस्ताव पारित नहीं हो सका। वह उसे पारित नहीं करा पाए तो मुख्यमंत्री रहने की वजह से वह अपनी गलती मानते हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में उन्हें लेकर गलत माहौल बनाया गया।

ये भी पढ़ें

IND vs SA: चाहर-अर्शदीप के कहर के बाद राहुल-सूर्यकुमार के अर्धशतक से जीती इंडिया, द.अफ्रीका को आठ विकेट से किया पराजित

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर अशोक गहलोत ने कहा कि जो हुआ है, उस स्थिति में उन्होंने तय किया है कि अब कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेंगे। अशोक गहलोत के ही बयान से उनके मुख्यमंत्री बने रहने को लेकर भी संशय पैदा हो गया है। 10 जनपथ के बाहर मीडिया कर्मियों ने जब उनसे मुख्यमंत्री पद को लेकर पूछा तो उन्होंने कहा कि इसका निर्णय भी सोनिया गांधी को ही लेना है। ऐसे में ये माना जा रहा है कि अशोक गहलोत से सोनिया गांधी का गुस्सा बरकरार है। आपको बता दें कि गुरुवार को ही सचिन पायलट की भी सोनिया गांधी से मुलाकात होनी है। उसके बाद राजस्थान को लेकर कोई अहम फैसला हो सकता है।

ये भी पढ़ें

यूरोप में फैली सिफलिस बीमारी, पोर्न एक्ट्रेस ने बंद किया कार्य, जानें क्यों सता रहा भय

वर्तमान स्थिति में अब कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव में दिग्विजय सिंह व शशि थरूर ही शेष नजर आ रहे हैं। यदि अंतिम वक्त में किसी और की एंट्री होती है तो यह अलग बात है। दिग्विजय सिंह व शशि थरूर दोनों ने ही शुक्रवार को नामांकन दाखिल करने की बात कही है। वहीं दिग्विजय सिंह और शशि थरूर ने भेंट भी की है। ऐसे में इस बात पर भी कयास लग रहे हैं कि कहीं दिग्विजय सिंह के समर्थन में शशि थरूर अपना नाम ही न वापस ले लें।

Share On