वो इलाके जहां चायना घूसपैठ की कोशिश करता है

सेना के मुताबिक तवांग सेक्‍टर यांगत्‍से में नौ दिसंबर को चीनी सैनिकों और भारतीय सैनिकों के बीच झड़प हुई, इससे पहले साल 2016 में भी दसी क्षेत्र में लगभग 250 चीनी सैनिक भारतीय सीमा में घुस आए थे।

Created By : ashok on :15-12-2022 12:42:46 स्मिता सिंह खबर सुनें

वो इलाके जहां चायना घूसपैठ की कोशिश करता है

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि ड्रेगन यानि की चायना ने हमारी भारतीय सीमाओं में घूसने की नाकाम कोशिश की हो, ये अक्‍सर ही होता रहता है कि चायना अपने नापाक इरादों के साथ भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश करता रहता है और अपनी हरकातों से बाज नहीं आता है।।

ये भी पढ़ें

जातीय व्यवस्था से लड़िए, मनुष्य से नहीं

चायना के साथ भारत की 3,488 किलो मीटर लंबी सीमा लगी हुई है, चीन ने अरुणाचल प्रदेश के 90 हजार वर्ग किलो मीटर के हिस्‍से पर अपना दावा कर रख है, जबकि लद्दाख का लगभग 38 हजार वर्ग किलोमीटर भाग चीन के कब्‍जे में है। इसके अलावा दो मार्च 1963 को हुए एक समझौते में पाकिस्‍तान ने पीओके की 5, 180 वर्ग किलोमीटर जमीन चीन को दी थी, चीन लद्दाख को अपना हिस्‍सा बताता है। और वहीं अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्‍बत का हिस्‍सा मानता है। और अब हाल फिलहाल में भारतीय सेना के

सेना के मुताबिक तवांग सेक्‍टर यांगत्‍से में नौ दिसंबर को चीनी सैनिकों और भारतीय सैनिकों के बीच झड़प हुई, इससे पहले साल 2016 में भी दसी क्षेत्र में लगभग 250 चीनी सैनिक भारतीय सीमा में घुस आए थे। फिर साल 2017 में डोकलाम में भारत और चीन के बीच टकराव हुआ था, क्‍योंकि चायना इस क्षेत्र में सड़क का निर्माण कर रहा था। तब भारत ने इसका विरोध किया था। लगभग दो महीने लंबे चले डोकलाम विवाद को 28 अगस्‍त 2017 को भारत और चीन ने विवादित जगह से पीछे हटने का एलान किया था।

ये भी पढ़ें

साइकिल चलाना भी बेशर्मी हो गई

15 जनवरी 2020 को गलवान घाटी लद्दाख में दोनों सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे, हालांकि बाद में ही सही चीन ने भी अपने चार सैनिकों के मारे जाने की पुष्टि की थी।

लेकिन उसमें भी संशय था क्‍योंकि एक ऑस्‍टेलिया के अखबार ने चायना के 38 सैनिकों के मारे जाने का दावा किया था। 1990 के दशक में चीन और भारत के बीच कई बार की हुई बैठकों में दोनों ही तरफ के नक्‍शे में 25 क्षेत्रों की पहचान की गई थी, जहां घुसपैठ की संभावनाएं रहती थी, पहले ये संख्‍या 23 थी लेकिन जब साल 2020 में लद्दाख गलवान और हॉट स्प्रिग्‍ंस में चीनी घुसपैठ के चलते ये संख्‍या 25 हो गई है, जो विवादित क्षेत्रों में आते है।

Share On