Love Story का दुखद अंत: मुजफ्फरपुर में गर्लफ्रेंड ने दी जान, जयपुर में आठवें माले से बॉयफ्रेंड ने लगाई छलांग, दोनों की मौत

मुजफ्फरपुर की अंजलि जायसवाल 23 वर्ष और नीम चौक शंकरपुरी निवासी विवेक कुमार 26 साल के बीच क्लास 8वीं में साथ पढ़ते वक्त प्रेम हुआ था। करीब 10 वर्ष तक इनकी प्रेम कहानी में कोई तकरार नहीं हुआ। लेकिन अब इन दोनों की प्रेम कहानी सदां के लिए खत्म हो गई है।

Created By : Shiv Kumar on :25-03-2022 12:46:39 प्रेमी-प्रेमिका फाइल फोटो खबर सुनें

एजेंसी, जयपुर।
मामूली बात पर पहली नजर के प्रेम का दुखद अंत हो गया। फोन पर किसी बात पर दोनों के बीच झगड़ा हुआ और इसके बाद प्रेमिका और प्रेमी दोनों ने जान दे दी। गर्लफ्रेंड ने बिहार के मुजफ्फरपुर में फांसी लगा ली ये यह सूचना मिलते ही बॉयफ्रेंड ने राजस्थान के जयपुर में एक आठ मंजिला भवन से छलांग लगाकर जान दे दी।

ये भी पढ़ें

Uttarakhand News: विधानसभा का बजट सत्र इसी माह


जानकारी के अनुसार मुजफ्फरपुर निवासी अंजलि जायसवाल 23 साल और नीम चौक शंकरपुरी निवासी विवेक कुमार 26 साल के बीच क्लास 8वीं में साथ पढ़ने के दौरान प्रेम हो गया था। करीब 10 वर्षों तक इनके प्रेम में कोई तकरार नहीं हुई। सभी कुछ सही चल रहा था। 4 वर्ष पहले विवेक इंजीनियरिंग करने के लिए राजस्थान के जयपुर चला गया था। लेकिन दोनों फोन के माध्यम से संपर्क में थे। युवती अंजलि भी सीए की तैयारी कर रही थी। हालिया कई दिनों से दोनों के बीच किसी बात पर मतभेद था। दोनों के मनमुटाव को समाप्त करने का प्रयास एक साझा मित्र कर रहा था, इस बीच दुखद घटना घट गई।


तीनों मित्रों के बीच कॉन्फ्रेंस कॉल पर सुलह के लिए बातचीत हुई थी। इस दौरान किसी बात पर अचानक दोनों के बीच तकरार हो गया। नाराज होकर विवेक ने कॉल काट दी, साथ ही फोन भी बंद कर लिया। इसके बाद विवेक को गुरुवार सुबह प्रेमिका अंजलि की मौत की खबर मिली। जिससे विवेक का दिल टूट गया। वह इतना दुखी हुआ कि दोपहर में उसने 8 मंजिला भवन से कूदकर जान दे दी।

ये भी पढ़ें

चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने दिल्ली में जयशंकर से की मुलाकात


मुजफ्फरपुर पुलिस ने अंजलि के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। विवेक की मौत के बाद परिवार वालों ने दोनों के प्रेम प्रसंग की जानकारी पुलिस को दी। दोनों की मौत की खबर से उनके परिजन सदमे में हैं। विवेक के परिवार वाले जयपुर के लिए रवाना हो गए हैं। विवेक के चाचा ने बताया कि वो इनकी प्रेम कहानी को तीन वर्ष से जानते थे। लेकिन पता नहीं था कि इसका इतना दुखद अंत होगा। उन्होंने कहा कि वो तो अंजलि को बहू बनाने को राजी थे, सिर्फ दोनों एक बार कह देते कि हमें शादी करा देते।

Share On