ताइवान को लेकर अमेरिका को धमकी दे रहा चीन, जानें दोनों देशों की सैन्य शक्ति

शिन्हुआ समाचार एजेंसी की न्यूज के अनुसार पीएलए की पूर्वी थिएटर कमान समुद्र इलाकों में संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास करेगी। अब प्रश्न उठता है कि क्या चीन व अमेरिका के बीच भी युद्ध जैसी स्थिति बन सकती है।

Created By : Shiv Kumar on :03-08-2022 14:55:13 चीन व अमेरिका तकरार खबर सुनें

एजेंसी, नई दिल्ली
चीन व अमेरिका के बीच तकरार बढ़ती जा रही है। चीन की ओर से लगातार धमकियां दी गर्इं, इसके बाद भी अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी इस समय ताइवान के दौरे पर हैं। चीन का कहना है इस यात्रा से द्विपक्षीय संबंधों पर ‘गंभीर असर’ पड़ेगा। चीन की सरकारी मीडिया ने कहा है कि सेना उनकी यात्रा का मुकाबला करने के लिए ‘लक्षित’ अभियान चलाएगी। मंगलवार रात नैंसी पेलोसी ताइपे पहुंचीं। ताइवान की यात्रा करने वाली नैंसी पेलोसी पिछले 25 वर्षों में सबसे उच्च स्तर की अमेरिकी अफसर हैं।

ये भी पढ़ें

बाइक सवार को कुल्हाड़ी से मारने दौड़ा सिपाही, वायरल वीडियो देखकर जानें मामले की सच्चाई


आपको बता दें कि चीन ताइवान को अपना क्षेत्र करार देता है व कहता है कि वो उसे खुद में मिला लेगा। चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की पूर्वी थिएटर कमान ताइवान द्वीप के निकट संयुक्त सैन्य अभियानों की एक श्रृंखला शुरू करेगी। समाचार एजेंसी शिन्हुआ के न्यूज के अनुसार पीएलए की पूर्वी थिएटर कमान समुद्र इलाकों में संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास करेगी। इस स्थिति में प्रश्न उठता है कि क्या चीन व अमेरिका के बीच भी युद्ध जैसी स्थिति बन सकती है।

ये भी पढ़ें

योगी-मोदी की जोड़ी बनी विकास की नई थ्योरी, समाज के हर तबके के लिए हो रहे कार्य

अमेरिका के सैन्य बजट के बारे में जानें
पूरी दुनिया में अमेरिका का सैन्य बजट सबसे अधिक है। अगर दुनियाभर के कुल सैन्य बजट को एक साथ जोड़ दें तो इसका 38 प्रतिशत भाग सिर्फ अमेरिका का है। अमेरिका का सैन्य बजट 801 बिलियन डॉलर पिछले वर्ष था। यह अमेरिका की जीडीपी का 3.5 प्रतिशत भाग है। वहीं चीन सैन्य बजट के मामले में दुनिया में दूसरे स्थान पर है। चीन का सैन्य बजट 293 बिलियन डॉलर साल 2021 में था। चीन की जीडीपी का यी करीब 1.7 प्रतिशत है।

ये भी पढ़ें

कुलदीप बिश्नोई जल्द बीजेपी में हो सकते हैं शामिल, ट्वीट कर दिया संकेत

अपनी शक्ति बढ़ा रहा चीन
चीन सैन्य मोर्चे पर अपनी शक्ति लगातार बढ़ा रहा है। चीनराष्ट्रपति शी जिनपिंग ने वर्ष 2035 तक अपनी सैन्य ताकत को आधुनिकीकरण करने का आदेश दिया है। इस आदेश के मुताबिक चीन को एक ‘विश्व स्तरीय’ सैन्य शक्ति बनना चाहिए, जो 2049 तक ‘जंग लड़ने व जीतने’ में सक्षम हो। इस वर्ष जून में चीन ने फुजियान विमानवाहक पोत को लॉन्च किया था। ये चीन में तैयार अब तक का सबसे एडवांस युद्धपोत है।

Share On