चीन में कोरोना से हालात खराब, शंघाई शहर में हैं सबसे ज्यादा केस

चीन का बड़ा शहर शंघाई इन दिनों कोरोना की चपेट में है। शंघाई में कोरोना इन दिनों जमकर कहर बरपा रहा है। चीन की राजधानी बीजिंग अब ऐसी ही स्थिति से बचने की कोशिश कर रही है।

Created By : Pradeep on :12-05-2022 14:03:13 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

चीन का बड़ा शहर शंघाई इन दिनों कोरोना की चपेट में है। शंघाई में कोरोना इन दिनों जमकर कहर बरपा रहा है। चीन की राजधानी बीजिंग अब ऐसी ही स्थिति से बचने की कोशिश कर रही है। इसका परिणाम यह है कि चीन अब एक दुविधा का सामना कर रहा है। या तो वह वायरस के प्रकोप के कारण बड़ी संख्या में मौतें और स्वास्थ्य सेवाओं पर बोझ को झेले और या देश भर में लंबे समय तक लॉकडाउन और घर में रहने के आदेशों की तेजी से बढ़ती सामाजिक और आर्थिक लागत को वहन करें।

ये भी पढ़ें

India Corona Update: देश में कोविड के 2827 नए केस मिले, 24 मरीजों ने तोड़ा दम

लेकिन चीन की कोविड दुविधा को हल करना और महामारी से बाहर निकलने का रास्ता खोजना चीन के शीर्ष नेता शी जिनपिंग के लिए मुश्किल है, जिनकी “शून्य-कोविड” रणनीति लगातार चुनौतियों का सामना कर रही है।

ये भी पढ़ें

प्रौद्योगिकी का उपयोग समाज की बेहतरी के लिए करें विद्यार्थीः कुलपति

शरद ऋतु में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की पंचवर्षीय कांग्रेस में शी को विवादास्पद तीसरे कार्यकाल के लिए फिर से नियुक्त किया जाना है। वह कभी नहीं चाहेंगे कि उससे पहले बड़े पैमाने पर वायरस का प्रसार हो और उच्च मृत्यु दर हो, क्योंकि ऐसा होने पर उनकी प्रतिष्ठा को चोट पहुंचेगी और उनके और पार्टी के इस दावे को कमजोर करेगी कि उन्होंने अन्य देशों की तुलना में महामारी को बेहतर ढंग से प्रबंधित किया है।

ये भी पढ़ें

हिमाचल पुलिस भर्ती पेपर लीक मामला, प्रक्रिया के चेयरमैन रहे आईपीएस अफसर जेपी सिंह को पद से हटाया

चीन इस मुकाम तक कैसे पहुंचा? और यह उस संकट को हल करने के लिए क्या कर सकता है जो न केवल अपने लोगों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए, बल्कि दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के लिए - और उन कई देशों के लिए भी खतरा है, जो इसकी विशाल आपूर्ति श्रृंखलाओं पर निर्भर हैं।

Share On