16 की उम्र में किया पहला अपराध

विकास ने अपने पारिवारिक सदस्य के बीमार होने का हवाला देकर अदालत से पैरोल मांगी थी। पैरोल मिलने के बाद वह गायब हो गया और तभी से फरार था।

Created By : ashok on :16-12-2022 12:59:57 बेनजीर हाशमी खबर सुनें

बेनजीर हाशमी

16 की उम्र में किया पहला अपराध


मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास लगरपुरिया जिसे दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट से औपचारिक तौर पर गिरफ्तार कर लिया गया है।जो कभी दिल्ली विश्वविद्यालय का student हुआ करता था।

ये भी पढ़ें

विद्यार्थियों को मशीन समझने का नतीजा

जब विश्वविद्यालय को ड्रॉप आउट हुआ तब वो गैंगस्टर बनने की राह पर चल पड़ा।16 की उम्र में जब वो गुनाह की दुनिया में मशहूर हुआ तब उसका नाम उसी के गांव पर विकास लगरपुरिया पड़ गया। मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाला विकास रामलाल आनंद कॉलेज से ग्रेजुएशन कर रहा था। ड्रॉप आउट होने के बाद उसका मन पढ़ाई से हट गया।
अपराध की दुनिया में विकास ने अपने ही गुरु गैंगस्टर धीरपाल काना की हत्या कर दी थी।

2009 में विकास की मुलाकात धीरपाल काना से हुई। धीरपाल से दोस्ती होने के बाद विकास धीरे-धीरे जुर्म की दुनिया में दस्तक देने लगा। धीरपाल के गैंग में विकास लगरपुरिया का खास स्थान बन गया। विकास ने साल 2012 में धीरपाल से रंजिश होने के कारण उसके करीबी टिंकू की घर में घुसकर हत्या कर दी थी। इसके बाद से लोग विकास लगरपुरिया के नाम से डरने लगे। विकास लगरपुरिया पर कम से कम 16 केस दर्ज हैं।

ये भी पढ़ें

बहुत कठिन है गृहस्थ जीवन जीना

इनमें हत्या, हत्या के प्रयास, रंगदारी जैसे मामले थे। विकास लगरपुरिया को जब पुलिस ने पकड़ा तो वो काफी दिनों तक जेल में बंद रहा। साल 2015 में उसे गिरफ्तार कर भोंडसी जेल में रखा गया था। बाद में विकास ने अपने पारिवारिक सदस्य के बीमार होने का हवाला देकर अदालत से पैरोल मांगी थी। पैरोल मिलने के बाद वह गायब हो गया और तभी से फरार था।

ये भी पढ़ें

संयुक्त राष्ट्र ने नमामि गंगे को दुनिया की शीर्ष 10 संरक्षण पहलों में से एक के रूप में मान्यता दी

इस गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली और हरियाणा पुलिस में खींचतान भी चली। लगरपुरिया गुरुग्राम में 30 करोड़ रुपए की लूट केस में वांटेड था। मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास लगरपुरिया को स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे दुबई से डिपोर्ट किया गया। जिसके बाद दिल्ली स्थित इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उसे औपचारिक तौर पर गिरफ्तार कर लिया। इस गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली और हरियाणा पुलिस में खींचतान भी चली। लगरपुरिया गुरुग्राम में 30 करोड़ रुपए की लूट केस में वांटेड था।

हालांकि हरियाणा STF का दावा है कि गैंगस्टर विदेश भागने की फिराक में था। इसको STF ने दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर से पकड़ने में सफलता हासिल की है।

STF गुरुग्राम के IG बी सतीश बालन ने बताया कि जब लगरपुरिया को पकड़ा गया तो वह कैब में सफर कर रहा था। हालांकि इससे पहले एक अन्य अधिकारी ने बयान दिया था कि गैंगस्टर को दिल्ली हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया है।

मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास लगरपुरिया को स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे दुबई से डिपोर्ट किया गया। जिसके बाद दिल्ली स्थित इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उसे औपचारिक तौर पर गिरफ्तार कर लिया। इस गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली और हरियाणा पुलिस में खींचतान भी चली। लगरपुरिया गुरुग्राम में 30 करोड़ रुपए की लूट केस में वांटेड था।

ये भी पढ़ें

लोकसभा चुनाव में मोदी का बड़ा विकल्प बन सकते हैं केजरीवाल

हालांकि हरियाणा STF का दावा है कि गैंगस्टर विदेश भागने की फिराक में था। इसको STF ने दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर से पकड़ने में सफलता हासिल की है। STF गुरुग्राम के IG बी सतीश बालन ने बताया कि जब लगरपुरिया को पकड़ा गया तो वह कैब में सफर कर रहा था। हालांकि इससे पहले एक अन्य अधिकारी ने बयान दिया था कि गैंगस्टर को दिल्ली हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया

16 की उम्र में किया पहला अपराध
मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास लगरपुरिया जिसे दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट से औपचारिक तौर पर गिरफ्तार कर लिया गया है।जो कभी दिल्ली विश्वविद्यालय का student हुआ करता था। जब विश्वविद्यालय को ड्रॉप आउट हुआ तब वो गैंगस्टर बनने की राह पर चल पड़ा।16 की उम्र में जब वो गुनाह की दुनिया में मशहूर हुआ तब उसका नाम उसी के गांव पर विकास लगरपुरिया पड़ गया। मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाला विकास रामलाल आनंद कॉलेज से ग्रेजुएशन कर रहा था। ड्रॉप आउट होने के बाद उसका मन पढ़ाई से हट गया।
अपराध की दुनिया में विकास ने अपने ही गुरु गैंगस्टर धीरपाल काना की हत्या कर दी थी। 2009 में विकास की मुलाकात धीरपाल काना से हुई। धीरपाल से दोस्ती होने के बाद विकास धीरे-धीरे जुर्म की दुनिया में दस्तक देने लगा। धीरपाल के गैंग में विकास लगरपुरिया का खास स्थान बन गया। विकास ने साल 2012 में धीरपाल से रंजिश होने के कारण उसके करीबी टिंकू की घर में घुसकर हत्या कर दी थी। इसके बाद से लोग विकास लगरपुरिया के नाम से डरने लगे। विकास लगरपुरिया पर कम से कम 16 केस दर्ज हैं। इनमें हत्या, हत्या के प्रयास, रंगदारी जैसे मामले थे। विकास लगरपुरिया को जब पुलिस ने पकड़ा तो वो काफी दिनों तक जेल में बंद रहा। साल 2015 में उसे गिरफ्तार कर भोंडसी जेल में रखा गया था। बाद में विकास ने अपने पारिवारिक सदस्य के बीमार होने का हवाला देकर अदालत से पैरोल मांगी थी। पैरोल मिलने के बाद वह गायब हो गया और तभी से फरार था।

इस गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली और हरियाणा पुलिस में खींचतान भी चली। लगरपुरिया गुरुग्राम में 30 करोड़ रुपए की लूट केस में वांटेड था। मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास लगरपुरिया को स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे दुबई से डिपोर्ट किया गया। जिसके बाद दिल्ली स्थित इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उसे औपचारिक तौर पर गिरफ्तार कर लिया। इस गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली और हरियाणा पुलिस में खींचतान भी चली। लगरपुरिया गुरुग्राम में 30 करोड़ रुपए की लूट केस में वांटेड था।

हालांकि हरियाणा STF का दावा है कि गैंगस्टर विदेश भागने की फिराक में था। इसको STF ने दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर से पकड़ने में सफलता हासिल की है। STF गुरुग्राम के IG बी सतीश बालन ने बताया कि जब लगरपुरिया को पकड़ा गया तो वह कैब में सफर कर रहा था। हालांकि इससे पहले एक अन्य अधिकारी ने बयान दिया था कि गैंगस्टर को दिल्ली हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया है।

मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास लगरपुरिया को स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे दुबई से डिपोर्ट किया गया। जिसके बाद दिल्ली स्थित इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उसे औपचारिक तौर पर गिरफ्तार कर लिया। इस गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली और हरियाणा पुलिस में खींचतान भी चली। लगरपुरिया गुरुग्राम में 30 करोड़ रुपए की लूट केस में वांटेड था।

हालांकि हरियाणा STF का दावा है कि गैंगस्टर विदेश भागने की फिराक में था। इसको STF ने दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर से पकड़ने में सफलता हासिल की है। STF गुरुग्राम के IG बी सतीश बालन ने बताया कि जब लगरपुरिया को पकड़ा गया तो वह कैब में सफर कर रहा था। हालांकि इससे पहले एक अन्य अधिकारी ने बयान दिया था कि गैंगस्टर को दिल्ली हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया

Share On