चीन में कोरोना का कहर, शंघाई सहित कई शहरों में लगा लॉकडाउन

चीन में कोविड का कहर जारी है। देश की आर्थिक राजधानी शंघाई में लॉकडाउन के बावजूद कोरोनावायरस के रिकॉर्ड मामले सामने आए हैं।

Created By : Pradeep on :16-04-2022 17:56:27 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

चीन में कोविड का कहर जारी है। देश की आर्थिक राजधानी शंघाई में लॉकडाउन के बावजूद कोरोनावायरस के रिकॉर्ड मामले सामने आए हैं। चीन की सरकार कोरोना महामारी पर नियंत्रण पाने के लिए जीरो कोविड पॉलिसी पर काम कर रही है लेकिन हालात फिर भी सुधरते नजर नहीं आ रहे हैं।

ये भी पढ़ें

गुरू नानक अस्पताल के 22 वर्ष पूरे होने पर मनाई वर्षगांठ

मीडियाा रिपोर्ट्स के मुताबिक, झेंग्झू एयरपोर्ट इकोनॉमिक जोन, जहां एप्पल, फॉक्सकॉन समेत कई कंपनीज की मैन्युफैक्चरिंग फैसिलीटी हैं। यहां पर शुक्रवार को महामारी को देखते हुए 14 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की गई है। वैलिड पास, हेल्थ कोड और नेगेटिव कोविड रिपोर्ट वाले कर्मचारी ही इस अवधि के दौरान इकोनॉमिक ज़ोन को छोड़ सकेंगे। हालांकि “विशेष वाहन” काम के चलते सामान्य रूप से यात्रा करने में सक्षम होंगे।

ये भी पढ़ें

निकाय चुनाव के साथ-साथ जनता का दिल भी जीतेगी भाजपा: ओमप्रकाश धनखड़

शंघाई के इस क्षेत्र में लॉकडाउन की घोषणा तब हुई जब उत्तर-पश्चिमी शहर जियान में इस महीने दर्जनों कोरोना केस सामने आने के बाद 1 करोड़ 30 लाख लोग अस्थायी रूप से आंशिक लॉकडाउन में कैद हैं। वहीं जियान शहर में स्थानीय प्रशासन ने शुक्रवार को नागरिकों से घर के बाहर अनावश्यक यात्राओं से बचने की अपील की और कंपनियों को इस महीने कर्मचारियों को घर से काम कराने को कहा है।

ये भी पढ़ें

खिलाड़ियों और युवाओं के भविष्य से खेल रही हरियाणा सरकार: सुशील कुमार गुप्ता

कोरोना महामारी पर नियंत्रण के चलते इन नए प्रतिबंधों का व्यापक रूप से सप्लाई चैन पर असर पड़ रहा है। जिसके चलते एप्पल समेत अन्य कंपनीज के शिपमेंट में देरी की संभावना है। अर्थशास्त्रियों का यह भी कहना है कि प्रतिबंधों का असर इस साल देश की आर्थिक विकास दर पर भी पड़ेगा। चीन के सेंट्रल बैंक ने शुक्रवार शाम को धीमी विकास दर के चलते बैंकों को नकदी की मात्रा में कटौती की है।

Share On