आज खुलेंगे गंगोत्री-यमुनोत्री धाम के कपाट, कोविड जांच की जरूरत नहीं, सीएम ने दी शुभकामनाएं

विश्व प्रसिद्ध चार धाम यात्रा मंगलवार को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ शुरू हो जाएगी। मुख्यमंत्री ने सभी चार धाम श्रद्धालुओं को यात्रा की शुभकामनाएं दी है और कहा है कि सरकार ने सुरक्षित और सुविधायुक्त यात्रा सुनिश्चित करने के लिए कई प्रयास किये हैं।

Created By : Pradeep on :02-05-2022 22:04:18 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

देहरादून
विश्व प्रसिद्ध चार धाम यात्रा मंगलवार को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ शुरू हो जाएगी। मुख्यमंत्री ने सभी चार धाम श्रद्धालुओं को यात्रा की शुभकामनाएं दी है और कहा है कि सरकार ने सुरक्षित और सुविधायुक्त यात्रा सुनिश्चित करने के लिए कई प्रयास किये हैं। शासन ने एक दिन में यात्रियों की अधिकतम संख्या भी निर्धारित कर दी है।

ये भी पढ़ें

मुख्यमंत्री ने 6,35,375 लाभार्थियों को 280 करोड़ की सामाजिक सुरक्षा पेंशन हस्तांतरित की


3 मई को गंगोत्री धाम के कपाट 11:15 बजे और यमुनोत्री धाम के कपाट 12:15 बजे खुलेंगे। दोनों धामों के कपाट खुलने के साथ ही चारधाम यात्रा शुरू हो जाएगी। इसके बाद छह मई को केदारनाथ धाम और आठ मई को बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलेंगे। केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी दर्शन को आ सकते हैं। हालांकि उनका कार्यक्रम अभी फाइनल नहीं हुआ है।

ये भी पढ़ें

रथ पर सवार होकर शाहपुर पहंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर

बहरहाल यात्रा शुरू होने पर मुख्यमंत्री ने श्रद्धालुओं का स्वागत करते हुए कहा कि उत्तराखंड देवभूमि है, श्रद्धालुओं का अतिथि देवो भवः की परंपरा के अनुरूप राज्य में चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा का पूरा ध्यान रखा जाएगा, इसके लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।

ये भी पढ़ें

बुजुर्गों का सम्मान ही घर का स्वर्ग है, प्रतियोगिता का आयोजन



यात्रियों की अधिकतम संख्या निर्धारित
सचिव धर्मस्व एचसी सेमवाल ने चारों धामों में एक दिन में अधिकतम यात्रियों की संख्या निर्धारित करने का आदेश जारी किया है। अगले 45 दिनों के लिए जारी आदेश में केदारनाथ धाम में 12 हजार, बदरीनाथ में 15 हजार, गंगोत्री में सात हजार और यमुनोत्री धाम में एक दिन में चार हजार श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे। चारो धामों के दर्शन के लिए अब तक तीन लाख से अधिक श्रद्धालु अपना पंजीकरण करा चुके हैं। मुख्य सचिव एसएस संधू ने यह भी साफ कर दिया है कि चारधाम यात्रा के दौरान कोविड जांच जरूरी नहीं होगी और वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र भी नहीं मांगा जाएगा।

Share On