मंकीपॉक्स से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने कसी कमर, एलएनजी अस्पताल में बनाए गए 20 आइसोलेशन रूम, जानें अन्य इंतजाम

दिल्ली सरकार ने मंकीपॉक्स से निपटने के लिए कमर कस ली है। केजरीवाल सरकार ने एलएनजेपी अस्पताल में 20 आइसोलेशन रूम बनाए हैं। अन्य सरकारी अस्पतालों में भी आइसोलेशन रूम बनाए दिए गए हैं। प्राइवेट अस्पतालों में भी जरूरी इंतजाम किए गए हैं।

Created By : Shiv Kumar on :03-08-2022 16:10:24 उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया खबर सुनें

देश रोजाना,नई दिल्ली
केजरीवाल सरकार ने मंकीपॉक्स के बढ़ते मामलों को देखते हुए कमर कस ली है व संक्रमण को रोकने के लिए सभी जरूरी तैयारियां शुरू कर दी है। इस दिशा में दिल्ली सरकार ने लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में 20 आइसोलेशन रूम, गुरुतेग बहादुर अस्पताल में 10 आइसोलेशन रूम व डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर अस्पताल में 10 आइसोलेशन रूम आरक्षित किए हैं। साथ ही तीन अन्य प्राइवेट अस्पतालों में भी 10-10 आइसोलेशन रूम की व्यवस्था की गई है। जिनमें कैलाश दीपक अस्पताल, एमडी सिटी अस्पताल व बत्रा हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर तुगलकाबाद शामिल है।सरकार की इन तैयारियों के विषय में जानकारी साझा करते हुए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि भारत में अभी मंकीपॉक्स के बहुत ज्यादा मामले सामने नहीं आए हैं। उसके बावजूद हम किसी भी आकस्मिक स्थिति के लिए तैयार हैं। दिल्ली सरकार मंकीपॉक्स के प्रसार को रोकने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठा रही है।

ये भी पढ़ें

शिमला: राइड विद प्राइड सेवा के तहत 18 टैक्सियां जनता को समर्पित

मंकीपॉक्स से डरने की जरूरत नहीं, सावधानी बरतें: सिसोदिया
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि मंकीपॉक्स एक संक्रामक रोग है लेकिन इससे डरने की नहीं, बल्कि सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली सरकार स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए है और इस संक्रामक रोग से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

ये भी पढ़ें

ताइवान को लेकर अमेरिका को धमकी दे रहा चीन, जानें दोनों देशों की सैन्य शक्ति

दुनिया भर में सामने आए मंकीपॉक्स के 16 हजार मामले
आपको बता दें कि 23 जुलाई तक दुनिया भर के 75 देशों में मंकीपॉक्स के 16 हजार से अधिक मामले सामने आ चुके थे। जिसे देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा मंकीपॉक्स को ‘पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी’ घोषित किया गया है। भारत में भी अबतक मंकीपॉक्स के सात मामले सामने आए, जिनमें से दो मामले दिल्ली के हैं। इन दोनों मरीजों का लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में इलाज चल रहा है।

Share On