चोरों के किसी काम के नहीं रहेंगे लूटे गए मोबाइल, दिल्ली पुलिस उठाने जा रही ऐसा नायब कदम

दिल्ली पुलिस मोबाइल स्नैचिंग पर लगाम लगाने के लिए एक नायब कदम उठाने जा रही है। जिसके बाद लूटा गया मोबाइल चोरों के कोई काम नहीं आ सकेगा। क्योंकि दिल्ली पुलिस आईएमइआई नंबर की मदद से मोबाइल को ही ब्लॉक करने की योजना बना रही है।

Created By : Shiv Kumar on :08-08-2022 16:55:38 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

देश रोजाना, नई दिल्ली
दिल्ली पुलिस ने राजधानी दिल्ली में मोबाइल स्नैचिंग पर लगाम लगाने के लिए कमर कस ली है। पुलिस की माने तो इस कदम से चोरों का मोबाइल चुराने का मकसद पूरी तरह से समाप्त हो जाएगा। दरअसल, दिल्ली पुलिस इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आईडेंटिटी नंबर के जरिए चोरी या लूटे गए फोन को ब्लॉक करने के लिए इंटरनेट सेवा प्रदाताओं व दूरसंचार विभाग के साथ मिलकर काम करने की तैयारी में लगी हुई है।

ये भी पढ़ें

केजरीवाल सरकार प्रत्येक बच्चे को बेहतर भविष्य प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध: मनीष सिसोदिया

पुलिस का दावा है कि अब चोरी हुए या फिर लूटे गए मोबाइल फोन की आईएमइआई नंबर को सर्वर पर नोट कर डिवाइस को तुरंत ब्लॉक कर दिया जाएगा। जिससे चोर ना तो खुद इस फोन का इस्तेमाल कर पाएंगे और ना ही इसे किसी और को बेच पाएंगे। एक रिपोर्ट की मानें तो 1 जनवरी 2022 से 28 जून 2022 तक दिल्ली में मोबाइल स्नेचिंग की कुल 4660 केस सामने आए हैं जो पिछले वर्ष की तुलना में 11 से 15 प्रतिशत ज्यादा है। दिल्ली में लगातार मोबाइल स्नेचिंग की समस्या की शिकायत थानों में आती रहती हैं जिसको देखते हुए दिल्ली पुलिस द्वारा अब इस दिशा में यह अहम कदम उठाने की तैयारी की जा रही है।

ये भी पढ़ें

पति-ससुर पर तलवार से हमला, घायल हसबैंड बोला- पत्नी ने प्रेमी से अंजाम दिलवाई वारदात

पुलिस को उम्मीद है कि इस कदम से मोबाइल चोरी की घटनाओं पर लगाम लग सकेगी और चोर चुराए गए फोनों को ना तो इस्तेमाल कर पाएंगे और ना ही कहीं बेच पाएंगे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस मामले को लेकर कहा कि इस सुविधा के आ जाने के बाद फोन पूरी तरह से चोरी या फिर लूटा गया फोन पूरी तरह से बेकार हो जाएगा चोरों के फोन चुराने का मकसद भी विफल होगा। गौरतलब है कि दिल्ली में मोबाइल से किस समस्या एक बड़ी समस्या है। अक्सर ही फोन स्नेचिंग के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं जिस कारण लोगों को काफी परेशानी और नुकसान का सामना करना पड़ता है।

Share On