डीयू ने ईडब्ल्यूएस को 10 फीसदी अतिरिक्त सीटें देने संबंधी सर्कुलर किया जारी

`आप` के शिक्षक संगठन दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन ( डीटीए ) के अध्यक्ष डॉ. हंसराज सुमन ने डीयू द्वारा शैक्षिक व गैर- शैक्षिक पदों पर ईडब्ल्यूएस अभ्यर्थियों को 10 फीसदी अतिरिक्त सीटें देने संबंधी सर्कुलर जारी किए जाने का स्वागत किया है।

Created By : Shiv Kumar on :23-06-2022 15:20:50 डीयू खबर सुनें

देश रोजाना, नई दिल्ली
दिल्ली विश्वविद्यालय के सहायक कुलसचिव ने विश्वविद्यालय से सम्बद्ध सभी कॉलेजों के प्राचार्यों तथा संस्थान के निदेशकों को सर्कुलर जारी करते हुए कॉलेज व संस्थानों में 10 फीसदी आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों ( ईडब्ल्यूएस ) के शैक्षिक व गैर-शैक्षिक पदों को भरने के संदर्भ में आरक्षण लागू कर 24 जून तक जानकारी देने को कहा है। ताकि शैक्षिक व गैर - शैक्षिक कर्मचारियों के कार्य के दबाव को कम किया जा सके। इस संदर्भ में उन्होंने विश्वविद्यालय द्वारा समय-समय पर जारी दिशा निर्देशों का अनुपालन करते हुए इन 10 फीसदी अतिरिक्त पदों को भरे जाने का हवाला दिया है।

ये भी पढ़ें

पत्नी की प्रताड़ना से दुखी पति पहुंचा एसपी के पास, लगाई न्याय की गुहार, किए चौंकाने वाले कई खुलासे


आम आदमी पार्टी के शिक्षक संगठन दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन ( डीटीए ) के अध्यक्ष डॉ. हंसराज सुमन ने दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा शैक्षिक व गैर- शैक्षिक पदों पर ईडब्ल्यूएस अभ्यर्थियों को 10 फीसदी अतिरिक्त सीटें देने संबंधी सर्कुलर जारी किए जाने का स्वागत किया है। उन्होंने कहा है कि विश्वविद्यालय के विभागों / कॉलेजों व संस्थानों में ईडब्ल्यूएस की अतिरिक्त सीटों के बढ़ने से सामान्य वर्गों के उन एडहॉक टीचर्स को राहत मिलेगी जिनकी सीटें 200 पॉइंट पोस्ट बेस रोस्टर के अंतर्गत ईडब्ल्यूएस में चली गई थीं।

ये भी पढ़ें

सोनीपत: बेरिकेड्स से टकराने के बाद कार में लगी भीषण आग, जिंदा जल गए MBBS के तीन छात्र

उन्होंने बताया है कि पिछले तीन साल से डीयू में ईडब्ल्यूएस से 10 फीसदी आरक्षण बढ़ने से छात्रों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने बताया कि वर्ष -2019 में कॉलेजों व विभागों में छात्रों के प्रवेश में ईडब्ल्यूएस आरक्षण लागू कर दिया गया जिससे शिक्षक - छात्र का अनुपात प्रभावित हुआ। डीटीए के अध्यक्ष डॉ. हंसराज सुमन ने बताया कि डीटीए व अन्य शिक्षक संगठनों ने शैक्षिक व गैर-शैक्षिक कर्मचारियों पर अतिरिक्त भार पड़ने पर सीटों की मांग की थीं और अब जाकर विश्वविद्यालय ने 10 फीसदी अतिरिक्त सीटों का सर्कुलर जारी किया है जिसका हम स्वागत करते है।

Share On