जी-20 का अध्‍यक्ष भारत

एक दिसंबर 2022 को भारत औपचारिक रूप से जी-20 का अध्‍यक्ष बन जाएगा। इस मौके पर देशभर में एक सौ स्‍मारकों पर जी-20 लोगो के साथ रोशनी की जाएगी।

Created By : Manuj on :02-12-2022 16:14:47 स्मिता सिंह खबर सुनें

जी-20 का अध्‍यक्ष भारत
एक दिसंबर 2022 की तारीख हमारे देश भारत के लिए बहुत ही खास होने वाली है। क्‍योंकि एक दिसंबर 2022 को भारत औपचारिक रूप से जी-20 का अध्‍यक्ष बन जाएगा। इस मौके पर देशभर में एक सौ स्‍मारकों पर जी-20 लोगो के साथ रोशनी की जाएगी।

ये भी पढ़ें

एक हजार का होगा ट्वीट


और क्‍या कुछ खास होने वाला है इसबार जी-20 में ये बताने से पहले आपको जी-20 क्‍या है ये बताते है--- जी-20 को ग्रुप ऑफ ट्वेंटी भी कहा जाता है। ये यूरोपीयन यूनियन और उन्‍नीस देशों का अनौपचारिक समूह है। जी-20 शिखर सम्‍मेलन में इसके नेता हर साल जुटते है और वैशिवक अर्थव्‍यवस्‍था को कैसे आगे बढ़ाया जाए इस पर चर्चा करते हैं।

इसका गठन साल 1999 में किया गया था। इस बार जी-20 के आयोजन ये मौका भारत को मिला है, अब एक दिसंबर 2022 को भारत अनौपचारिक रूप से जी-20 का अध्‍यक्ष बन जाएगा। देशभर में जी-20 लोगो के साथ एक सौ स्‍मारकों पर रोशनी कर उन्‍हें जगमग किया जाएगा। फिर

ये भी पढ़ें

कन्याभ्रूण हत्या का कलंक मिट जाता


इसके बाद जी-20 की बैठकों का दौर शुरू हो जाएगा। गौरतलब है कि अगले साल नौ और दस सितंबर को जी-20 देशों को शिखर सम्‍मेलन होगा। इससे पहले देश के पचास शहरों में दो सौ से ज्‍यादा बैठकें आयोजित की जाएगी। पहली जी-20 शेरपा बैठक चार से सात दिसंबर को उदयपुर में होगी, खबरें ऐसी भी मिल रही है कि भारत की अध्‍यक्षता में जी-20 के आयोजन को ऐतिहासिक बनाने के लिए तैयारियां जोर-शोर से की जा रही है। जी-20 के मौके पर भारत खुद की विभिन्‍न क्षेत्रों में की गई उन्‍नति को प्रेजेंट करेगा। जी-20 को पर्यटन, संस्‍कृति और त्‍योहारों के आयेजनों से भी जोड़ा जाएगा। जी-20 के इस भव्‍य आयोजन के जरिए ब्रांड इंडिया को प्रमोट किया जाएगा। इसमें पर्यटन स्‍थलों को भी दिखाया जाएगा।


जी-20 की कुछ खास बातें---

1--- पहले नहीं हुई ऐसी बैठक-- जम्‍मू-कश्‍मीर लद्ाख से लेकर कोहिमा तक पचास से ज्‍यादा शहरों में बैठकें आयेजित की जाएगी। अब तक बड़े पैमाने पर जी-20 की बैठकें नहीं हुई है।
चायना में चौदह और इंडोनेशिया में पच्‍चीस शहरों में जी-20 की बैठकें हुई थी। इस दौरान पचहत्‍तर यूनिवर्सिटीज में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए थे।
2-- किन मुद्दों पर होगी चर्चा--- बैठकों में आर्थिक मामलों, आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन, अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दों, ऊर्जा सुरक्षा, खाद्य सुरक्षा जैसे कई मुद्दे होंगे जिन पर बातचीत होगी।
3-- कौन-कौन से देश शामिल होंगे--- जिन देशों को बुलाया जाएगा उसमें बांग्‍लादेश, मॉरीशस, ओमान, यूएई, नाइजीरिया, और मिस्र शामिल है। इन सभी को औपचारिक निमंत्रण भेजने की प्रक्रिया भारत की तरफ से कुछ वक्‍त बाद की जाएगी।

ये भी पढ़ें

भूखी-प्यासी जनता और मुप्त की रेवड़ी


4-- जी-20 की थीम क्‍या होगा--- मौजूदा वैशिवक भू राजनीतिक घटनाक्रम में पशिचमी देशों और रशिया को एक मंच पर लाने की चुनौती के बारे में विदेश मंत्रालय ने कहा, बैठक की थीम-- एक पृथ्‍वी, एक परिवार और एक भविष्‍य है। क्‍योंकि भारत देश हमेशा से ही वसुधैव कुटुम्‍बकम की भावना में विश्‍वास रखता है।

Share On