मुठभेड़ में मारा गया मूसेवाला हत्याकांड का आरोपी, दूसरे गैंगस्टर को पुलिस ने घेरा, तीन पुलिसकर्मी जख्मी

पंजाब के अमृतसर जिला स्थित अटारी में पाकिस्तान बॉडर से सटे चिचा भकना गांव में गैंगस्टरों व पंजाब पुलिस के बीच मुठभेड़ चल रही है। सूचना है कि यहां सिद्धू मूसेवाला मर्डर से जुड़े गैंगस्टर छिपे हो सकते हैं।

Created By : Shiv Kumar on :20-07-2022 15:33:07 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

एजेंसी, अमृतसर
पंजाब के अमृतसर जिले में अटारी के पास हुई मुठभेड़ में एक गैंगस्टर मारा गया है। इस दौरान तीन पुलिसकर्मिंयों को भी गोली लगी हैं। यह मुठभेड़ अमृतसर जिले के अटारी में पाकिस्तान बॉडर से सटे चिचा भकना गांव में चल रहा था।
अटारी गांव में छह से सात गैंगस्टरों के छिपे होने का शक है। जानकारी है कि ये गैंगस्टर्स गांव में पुरानी एक हवेली में छिपे हैं। पंजाब पुलिस को सूचना मिली थी कि सिद्धू मूसेवाला मर्डर से जुड़े गैंगस्टर गांव में छिपे हो सकते हैं। इस सूचना के बाद पंजाब पुलिस ने खोजी अभियान शुरू किया व इस बीच दोनों ओर से गोलीबारी हुई। सूत्रों से प्राप्त सूचना के मुताबिक, गैंगस्टर रूपा व उसका साथी मन्नू कुसा यहां छिपे थे। जिन्हें दबोचने के लिए भारी पुलिस फोर्स द्वारा पूरे इलाके को सील कर दिया गया। वहां पुलिस व दोनों शूटर्स के बीच मुठभेड़ जारी है। इन दोनों गैंगस्टर्स पर सिद्धू मूसेवाला मर्डर में शार्प शूटर होने का संदेह है। ये दोनों गैंगस्टर्स पंजाब के तरनतारन के निवासी बताए जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें

योगी सरकार में राज्यमंत्री दिनेश खटीक ने अमित शाह को भेजा इस्तीफा, अखिलेश यादव का तंज- `कभी-कभी बुलडोजर भी चलता है उल्टा`

ये गैंगस्टर्स लॉरेंस बिश्नोई व गोल्डी बराड़ के गिरोह के शॉर्प शूटर हैं। इससे पूर्व पुलिस ने बिश्नोई गिरोह के एक शार्प शूटर को अरेस्ट कर लिया था। अंकित सिरसा नाम के शूटर ने मूसेवाला पर नजदीक से गोली चलाई थी। अंकित सिरसा से पहले प्रियव्रत को पुलिस ने अरेस्ट किया था। सचिन भिवानी ने सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के चार शूटर्स को पनाह दी थी, जिसके बाद सचिन को अरेस्ट कर लिया गया था।

ये भी पढ़ें

पलवल: अपहरण कर बीएएमएस डॉक्टर की हत्या, मामला दर्ज कर छानबीन में जुटी पुलिस

आपको बता दें कि बीते 29 मई को पंजाब के मानसा जिले स्थित जवाहरके गांव के पास सिद्धू मूसेवाला को गोलियों से भूनकर मौत के घात उतार दिया गया था। कनाडा में बैठे गैंगस्टर गोल्डी बरार ने इस मर्डर की जिम्मेदारी ली थी। गोल्डी बरार तिहाड़ जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का बेहद करीबी है।

Share On