अग्निपथ योजना के विरोध में पूरे देश में प्रदर्शन, पलवल में फूंकी पुलिस की गाड़ियां, बिहार में ट्रेन को किया आग के हवाले

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का पूरे देश में विरोध हो रहा है। हरियाणा के रोहतक में इस योजना के विरोध में एक छात्र ने आत्महत्या कर ली। इधर, पलवल में हंगामा कर रहे छात्रों ने पुलिस की तीन गाड़ियां जला दीं। वहीं  हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में चुनाव अभियान के लिए जा रही मोदी की रैली में विरोध जताने जा रहे युवाओं को रोका गया।

Created By : Pradeep on :16-06-2022 13:32:11 पलवल में फूंकी पुलिस की गाड़ियां। खबर सुनें

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का पूरे देश में विरोध हो रहा है। हरियाणा के रोहतक में इस योजना के विरोध में एक छात्र ने आत्महत्या कर ली। इधर, पलवल में हंगामा कर रहे छात्रों ने पुलिस की तीन गाड़ियां जला दीं। वहीं हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में चुनाव अभियान के लिए जा रही मोदी की रैली में विरोध जताने जा रहे युवाओं को रोका गया। यूपी में भी अभियान के खिलाफ नारेबाजी की गई।
वहीं बिहार में युवा और छात्र सड़कों पर उतर कर हिंसक विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। बक्‍सर से लेकर मुंगेर तक और सहरसा से लेकर नवादा तक में हिंसक प्रदर्शन किए जा रहे हैं। उग्र प्रदर्शनकारियों के निशाने पर भारतीय रेल है। कई जगहों पर यात्री ट्रेनों में आग लगाने की घटनाएं सामने आई हैं। छात्र एवं युवा रेलवे पटरियों और नेशनल हाइवे पर उग्र प्रदर्शन कर रहे हैं। ट्रेन सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित हुई हैं। वहीं, कुछ जिलों में नेशनल हाइवे पर भी प्रदर्शन किया गया है, जिसके चलते यातायात व्‍यवस्‍था चरमरा गई है।

आपको बता दें कि भारतीय सेना, वायुसेना और नौसेना में भर्ती के लिए अग्निपथ योजना लॉन्‍च करने की घोषणा की गई है। इस योजना के तहत इच्‍छुक युवाओं का 4 वर्षों के लिए सशस्‍त्र बलों में भर्तियां की जाएंगी। प्रदर्शनकारी छात्र एवं युवा सुबह से ही हिंसक प्रदर्शन कर रहे हैं। सहरसा, छपरा, गोपालगंज, आरा, बक्‍सर, सीवान आदि जगहों पर प्रदर्शनकारी रेलवे पटरियों और सड़क पर प्रदर्शन कर रहे हैं। इन जगहों पर ट्रेनों का परिचालन ठप हो गया है। कुछ जगहों पर ट्रेनों को आग के हवाले भी कर दिया गया है।
शुरुआत में प्रदर्शनकारी छात्र और युवा पटरियों पर उतर कर अग्निपथ योजना के खिलाफ विरोध जताने लगे। देखते ही देखते प्रदर्शनकारियों का हुजूम हिंसक हो गया और यात्री ट्रेन की बोग‍ियों में आग लगा दी गई। इससे मौके पर अफरा-तफरी का माहौल हो गया। उग्र युवाओं ने सीवान जंक्‍शन के समीप सिसवन ढाला रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया। वहीं, गोपालगंज में सिधवलिया स्‍टेशन पर पैसेंजर ट्रेन को रोक दिया गया। वहां आगजनी कर उग्र प्रदर्शन किया गया।

अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे युवाओं के निशाने पर मुख्‍य तौर से भारतीय रेल ही रहा। उग्र प्रदर्शनकारियों ने छपरा में यात्री ट्रेनों को व्‍यापक पैमाने पर नुकसान पहुंचाया। तोड़फोड़ करने के साथ ही पैसेंजर ट्रेन में आग लगा दी गई। प्‍लेटफॉर्म पर भी सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया। रेलवे ट्रैक पर विरोध-प्रदर्शन करने के कारण ट्रेनों का परिचालन भी ठप हो गया। इससे यात्रियों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।
वहीं, दिल्‍ली-हावड़ा रेलवे रूट पर पड़ने वाले आरा में भी उग्र प्रदर्शन किया जा रहा है। युवाओं की भीड़ रेलवे स्‍टेशन पर पहुंचकर तोड़फोड़ की है। साथ ही ट्रेन में आग लगाने की भी सूचना है। प्‍लेटफॉर्म पर भी तोड़फोड़ की गई है। बाद में सुरक्षाबलों ने सभी को वहां से खदेड़ा।

बिहार में अग्निपथ भर्ती योजना को लेकर छात्रों ने उग्र प्रदर्शन किया। छात्रों ने प्लेटफार्म पर व्‍यापक पैमाने पर तोड़फोड़ की। प्लेटफार्म पर लगी कुर्सियों को उखाड़ कर फेंक दिया गया। सहरसा में भी उग्र युवाओं का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है। सुबह से ही उग्र छात्रों का हुजूम सड़क पर उतर कर प्रदर्शन कर रहा है। उग्र छात्रों ने सहरसा रेलवे स्टेशन के पास सहरसा-मानसी रेल लाइन को पूरी तरह से बाधित कर दिया। इसके कारण सहरसा से खुलने वाली सहरसा-नई दिल्ली वैशाली सुपरफास्‍ट एक्सप्रेस, सहरसा-पटना राज्यरानी समेत अन्‍य यात्री ट्रेनें स्‍टेशन पर ही खड़ी हैं। अन्‍य ट्रेनों का परिचालन भी बाधित हुआ है।

Share On