यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में बसपा कैसा करेगी प्रदर्शन, संजय मग्गू ने मायावती के अनछुए प्रसंगों पर भी की चर्चा

देश रोजाना पर यूपी के राजनीतिक किस्सों के विशेष कार्यक्रम में संजय मग्गू ने आज बसपा प्रमुख मायावती के सियासी सफर और उनके साथ हुई एक दुखद घटना का जिक्र किया। वहीं यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में मायावती की पार्टी बसपा कैसा प्रदर्शन करेगी पर भी चर्चा की।

Created By : Shiv Kumar on :10-01-2022 21:15:08 मायावती खबर सुनें

दोस्तों नमस्कार
देश रोजाना पर यूपी के राजनीतिक किस्सों के विशेष कार्यक्रम में मैं संजय मग्गू आज फिर एक नए किस्से के साथ आपके समक्ष मौजूद हूँ और चर्चा करूँगा उत्तर प्रदेश की आयरन लेडी के रूप में ख्याति प्राप्त चार बार सीएम रही मायावती की। दोस्तों उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है तथा 10 मार्च को सामने आ जाएगा की किसमें कितना दम है। इसी क्रम में अपने दर्शको के लिए देश रोजाना उप्र के पूर्व मुख्यमंत्रियों सहित प्रमुख हस्तियों से जुड़े उनके राजनीतिक करियर व अन्य अनकहे, अनसुने व अनछुए प्रसंगों पर बात की जाएगी। पूर्व मुख्यमंत्री के किस्सों की सीरीज में पेश है उस महिला की कहानी जिन्हें यूपी की परफेक्ट वीमेन पॉलिटिशियन माना जाता है। बात है बसपा सुप्रीमो मायावती की जिन्हें यूपी की सियासत में 'बहनजी' के नाम से भी जाना जाता है। मायावती प्रदेश के इतिहास में चार बार मुख्यमंत्री के पद पर पहुंचने वाली नेता हैं। इसी के साथ वह देश की पहली दलित महिला मुख्यमंत्री भी हैं।


15 जनवरी, 1956 को गौतम बुद्ध नगर के बादलपुर गांव में मायावती का जन्म एक साधारण परिवार में हुआ। उनके पिता दूरसंचार विभाग मे कार्यरत थे। उन्होंने 1975 में दिल्ली विश्वविद्यालय के कालिंदी कालेज से कला में स्नातक की। 1976 में उन्होंने मेरठ विश्वविद्यालय से बीएडऔर 1983 में दिल्ली विश्वविद्यालय से एलएलबीकी पढ़ाई की। राजनीति में प्रवेश से पूर्व वे दिल्ली के एक स्कूल में अध्यापिका के रूप में शिक्षण कार्य करती थी। इसके अलावा वे भारतीय प्रशासनिक सेवा के परीक्षाओं के लिये अध्ययन भी करती थी। मायावती के 6 भाई एवं 2 बहनें हैं। उन्हें बहन जी के नाम से भी जाना जाता है। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष है। माने तो बसपा भारतीय समाज के सबसे कमजोर वर्गों - बहुजनों या अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों, अन्य पिछड़ा वर्ग और पान्थिक अल्पसंख्यकों के जीवन में सुधार के लिए सामाजिक परिवर्तन के एक मंच पर केन्द्रित है।
आगे बढ़ने से पहले आपको मायावती जी के उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री के कार्यकाल के बारे में
मायावती पहली बार
3 जून 1995 – 18 अक्टूबर 1995
21 मार्च 1997 – 21 सितम्बर 1997
3 मई 2002 – 29 अगस्त 2003
वर्ष 2007 में मायावती की बीएसपी पूर्ण बहुमत से सत्ता में आई तथा वे पुरे पांच साल सीएम रहीं।

Share On