खनन सचिव के पद से हटाई जा सकती हैं पूजा सिंघल, CA को पूछताछ के लिए अपने साथ ले गई ED टीम

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को शुक्रवार को पूजा सिंघल से संबंधित 18 से अधिक ठिकानों पर छापेमारी की। पूजा सिंघल के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति, अवैध खनन, मनरेगा घोटाला के आरोप हैं। छापेमारी कार्रवाई के दौरान ईडी ने पूजा सिंघल के ठिकानों से 19 करोड़ नकदी जब्त की। सिंघल के सीए के घर से 17 करोड़ नकदी बरामद हुई है।

Created By : Shiv Kumar on :07-05-2022 15:00:03 पूजा सिंघल खबर सुनें

एजेंसी, रांची।
प्रवर्तन निदेशालय यानी कि ईडी की टीम झारखंड अवैध खनन मामले में लगातार छापेमारी कर रही है। ईडी की टीम आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के सीए सुमन को पूछताछ के लिए अपने साथ ले गई है। सूत्रों के मुताबिक घर पर पूछताछ के दौरान उनके सीए ईडी की टीम को सहयोग नहीं कर रहे थे। वो तमाम प्रश्न के गोलमोल उत्तर दे रहे थे। ईडी को सीएम के यहां से कई अहम पेपर्स भी मिले हैं।

ये भी पढ़ें

हमीरपुर: बारीं में अग्निकांड पीड़ितों से मिले पूर्व मुख्यमंत्री धूमल, हरसंभव सहायता का दिया आश्वासन

रांची के हनुमान नगर में सीए सुमन सोनाली व मोनिका अपार्टमेंट में निवास करते हैं। इस अपार्टमेंट के गार्ड नेपाल यादव ने मीडिया को जानकारी दी कि ईडी की टीम सीए सुमन को अपने साथ ले गई है। ईडी की टीम को सुमन के घर से शुक्रवार को 17 करोड़ नकदी मिली थी। जिसे ईडी की टीम ने जब्त कर लिया है। माना जा रहा है कि ये रुपये पूजा सिंघल के हैं। आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति, मनरेगा घोटाला और अवैध खनन का आरोप है। ईडी की टीम ने पूजा सिंघल से संबंधित 18 से ज्यादा ठिकानों पर शुक्रवार को छापेमारी की। यह छापेमारी ज्यादातर झारखंड में हुई है। ईडी ने 19 करोड़ कैश जब्त किया है। पूजा के सीए के यहां से 17 करोड़ नकदी मिला है।
ईडी की टीम ने शिकायत मिलने के बाद उनके खिलाफ छापेमारी एक्शन लिया। झारखंड उच्च न्यायालय के वकील राजीव ने पूजा सिंघल के खिलाफ फरवरी 2022 में ईडी में शिकायत दर्ज की थी। अवैध खनन के जरिए मनी लॉन्ड्रिंग की शिकायत ईडी को पूजा सिंघल के खिलाफ मिली थी।

ये भी पढ़ें

पूर्व केंद्रीय संचार मंत्री पंडित सुखराम इलाज के लिए दिल्ली भेजे, सीएम ने सरकारी हेलीकॉप्टर से भिजवाया एम्स


पूजा सिंघल के खिलाफ आरोप है कि वो रेत खनन के लिए ठेके पसंद के ठेकेदारों को दे रही थीं। पूजा सिंघल पर सीएम हेमंत सोरेन और उनके विधायक भाई बसंत सोरेन को काफी कम कीमत पर खान को आवंटन करने का आरोप है। इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया की ओर से इस मामले को लेकर हेमंत व उनके भाई को नोटिस जारी हुआ है। साथ ही जवाब मांगा गया है। हेमंत पर एक खनन लीज पर पद का फायदा लेने का आरोप है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक झारखंड सरकार अपनी बदनामी नहीं कराना चाहती। अन्य अधिकारियों को किरकिरी से बचाने के लिए बड़ा निर्णय ले सकती है। खनन एवं उद्योग सचिव के पद से पूजा सिंघल को हटाया जा सकता है। जेएसएमडीसी के निर्देशक के पद से भी हटाया जा सकता है।

Share On