International Yoga Day: लक्ष्मीबाई कॉलेज में मेगा योग शिविर आयोजित, लोगों ने बढ़-चढ़कर लिया हिस्सा

दिल्ली के अशोक विहार स्थित लक्ष्मीबाई कॉलेज में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मेगा योगा शिविर का आयोजित हुआ। जिसमें  लोगों ने बढ़-चढ़कर लिया हिस्सा लिया। इस दौरान वाईएसएस योगों ने लोगों को योग के फायदे भी गिनवाए।

Created By : Shiv Kumar on :21-06-2022 16:09:46 लक्ष्मीबाई कॉलेज में योग करते छात्र व अन्य लोग खबर सुनें

देश रोजाना, नई दिल्ली
दिल्ली के अशोक विहार स्थित लक्ष्मीबाई कॉलेज में वाईएसएस योगा ने अंतरराष्ट्रीय दिवस पर मेगा योगा शिविर का आयोजन किया। योग कार्यक्रम की शुरुआत गणेश पूजन के साथ किया गया। वाईएसएस योगों में लोगों को बीच बीच में योग के महत्व पर चर्चा भी की गई। मिट्टी के महत्व को भी समझाया गया। इस खास आयोजन में लोगों का उत्साह देखते बन रहा था। वाईएसएस योगा के संयोजक प्रदीप गुप्ता ने बताया कि आज योगा का महत्व बढ़ा है।

पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में वैश्विक स्तर पर योगा का महत्व बढ़ा है। निश्चित तौर पर भारत विश्व गुरु बनकर उभरा है। प्रदीप गुप्ता ने कहा कि इस ग्राउंड में आपको उत्साह साफ दिख रहा होगा। जिस प्रकार से लोगों ने उत्साह दिखाया है यह साफ दर्शाता है कि योग से ही निरोग रहा जा सकता है। आज कई तरह की बीमारियां मनुष्य को घेर रही है जिससे निजात योग ही दिलाएगी। इस मौके पर वाईएसएस के समन्वयक सुभाष सबरवाल ने कहा कि आज ये संस्था काफी लोकप्रिय हो गया है। कोरोना काल में लक्ष्मीबाई कॉलेज में गरीबों के लिए लगातार सहायता कार्य चलाया जा रहा था। जिससे जरूरतमंदों को विशेष सहायता दिया जा सके। सुभाष सवरबाल ने आगे कहा कि वाईएसएस ने अंग दान के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया और आज इस संस्था में 13 लोगों ने अंग दान को तैयार हो गए हैं जिसमें यूएस से भी लोग हैं।


सुभाष सवरबाल ने कहा कि वैश्विक स्तर पर हमारी पहचान योगा से हुई है। आज आठ वर्ष हो गए हैं और अब तो हमारे गुरुओं की मांग भी बढ़ी है। इस मौके पर वाईएसएस के साथ कार्य करने वाले संजीव गर्ग ने कहा कि मंगलवार को सुबह चार बजे से ही लोग यहां आने शुरू हो गए। करीब दो हजार लोगों ने एक साथ योगा किया। जहां योगा के विभिन्न रूपों को किया गया। संजीव गर्ग ने कहा कि अमृत महोत्सव में योगा पर देश भर में कार्यक्रम हो रहे हैं जिसमें वाईएसएस का भी योगदान है। गौरतलब है कि विश्व योग दिवस 21 जून 2015 को वैश्विक स्तर पर मनाया जाना शुरू हुआ है।

Share On