मानसून सत्र: लोकसभा में ज्योतिमणि सहित कांग्रेस के चार सांसदों का निलंबन वापस, महंगाई पर चर्चा शुरू

लोकसभा में हंगामे के आरोप में कांग्रेस के चार सांसदों राम्या हरिदास, ज्योतिमणि, मणिकम टैगोर, टीएन प्रतापन को पूरे सत्र के लिए सस्पेंड किया गया था।

Created By : Shiv Kumar on :01-08-2022 15:36:39 मानसून सत्र खबर सुनें

एजेंसी, नई दिल्ली

लोकसभा में मानसून सत्र के दौरान चला आ रहा गतिरोध समाप्त हो गया। लोकसभा से सस्पेंड सांसदों का सोमवार को निलंबन खत्म हो गया। साथ ही सदन में महंगाई के मुद्दे पर चर्चा शुरू हो गई है। वैसे, लोकसभा में हंगामे के आरोप में कांग्रेस के चार सांसदों राम्या हरिदास, मणिकम टैगोर, ज्योतिमणि, टीएन प्रतापन को पूरे सत्र के लिए सस्पेंड किया गया था। विपक्ष की सहमति से सोमवार को इन सांसदों का निलंबन वापस लेने के लिए प्रस्ताव लाया गया था। इसके बाद सस्पेंड सांसदों को लोकसभा की कार्यवाही में शामिल होने की इजाजत मिल गई।

ये भी पढ़ें

रास्ते पर पानी जमा होने से बना बीमारियां फैलने का खतरा

जानकारी के अनुसार, संसद के दोनों सदनों में मानसून सत्र की शुरुआत से ही हंगामा जारी है। विपक्ष बेरोजगारी, महंगाई व जीएसटी जैसे मुद्दों पर चर्चा की मांग कर रहा है। साथ ही इन मुद्दों को लेकर मानसून सत्र में हंगामा जारी है। बीते दिनों सदन में कांग्रेस के चार सांसदों ने प्लेकॉर्ड दिखाया था, इसके बाद इन सांसदों को पूरे मासून सत्र के लिए सस्पेंड कर दिया गया। वहीं विपक्ष के 23 सांसद राज्यसभा से भी सस्पेंड चल रहे हैं।मानसून सेशन की शुरुआत से ही विपक्ष के हंगामे की वजह से जरूरी मुद्दे सदन में नहीं उठ पा रहे हैं। लोकसभा चलाने में आ रही परेशानियों के बाद स्पीकर ओम बिरला ने सोमवार को सुबह ही सभी दलों के नेताओं की मीटिंग बुलाई थी। इस दौरान सस्पेंड सांसदों का निलिंबन वापस लिए जाने को लेकर भी चर्चा हुई, जिसके बाद सदन में प्रस्ताव हुआ।

ये भी पढ़ें

पहली कक्षा की छात्रा का पीएम मोदी को पत्र! मेरी पेंसिल-रबर, मैगी महंगी कर दी` मांगने पर पिटाई करती है मां

ऐसे वापस होता सांसदों का निलंबन?
सांसदों के सस्पेंड को रद्द करने का अधिकार राज्यसभा के सभापति व लोकसभा अध्यक्ष के पास ही होता है। इसके अलावा निलंबन के खिलाफ प्रस्ताव भी सदन में लाया जा सकता है। यदि प्रस्ताव सदन में पास हो जाता है तो सांसदों का निलंबन रद्द हो सकता है।

Share On