Palwal Murder: बच्चों के हाथ-पैर बांधकर मुंह पर लगा दी थी टेप बाद में कर दी नानी की हत्या

पलवल की रेलवे कॉलोनी में सुरक्षा के जरूरी इंतजाम न होने के कारण अपराध का गढ़ बनता जा रहा है। कहने को तो यहां जीआरपी और आरपीएफ की चौकियां हैं।

Created By : Pradeep on :02-02-2022 21:39:11 पीड़िता प्रिया अपने बच्चे वंश, पूजा व मिष्टी के साथ ग़मगीन अवस्था में, अलमारी का टूटा पड़ा लाकर और फैला सामान, वारदात के बाद क्वार्टर की जांच करती फोरेंसिक टीम, वारदात के बाद पुलिस कार्रवाई में जुटी हुई व एसपी राजेश दुग्गल रेलवे क्वार्टर पर मामले की जानकारी लेते हुए। खबर सुनें

देश रोजाना, पलवल
पलवल की रेलवे कॉलोनी में सुरक्षा के जरूरी इंतजाम न होने के कारण अपराध का गढ़ बनता जा रहा है। कहने को तो यहां जीआरपी और आरपीएफ की चौकियां हैं।लेकिन, फिर भी बदमाशों के होंसले इतने बुलंद है कि दिन दहाड़े घर में घुसकर महिला की हत्या कर लूट की वारदात को अंजाम दिया। दिनदहाड़े हुए हत्या और लूट के बाद रेलवे कालोनी में दहशत का माहौल बना हुआ है। बुधवार को पलवल की रेलवे कालोनी में तीन हथियारबंद बदमाशों ने आरबीआई-39सी क्वार्टर में लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए पीछे के रास्ते से घुसे। घर में अपने तीन नाती और नातिनों के साथ रह रही 62 वर्षीया महिला मीरा ने विरोध किया तो बदमाशों ने उसके साथ मारपीट की और उसके हाथ पैर बांधकर उसके मुंह पर टेप लगा कर बेड पर लिटा दिया और उसकी हत्या कर दी।

वहीं बदमाशों ने उसके धेवते (वंश 2 साल) और दो धेवतियों (पूजा (प्रज्ञा) 7 व मिष्टी 4) के हाथ-पैर बांध दिए और मुंह पर टेप लगा दी ताकि शोर न मचाएं। मृतका महिला के गले और कानों के आभूषण सहित घर में बनी अलमारियों के ताले तोड़कर उसमें रखे कैश तथा आभूषणों को भी लूटकर बदमाश मौके से फरार हो गए। किसी को वारदात की भनक न लग सके इसके लिए लुटेरों ने टेलीविजन की आवाज तेज कर दी। बच्ची पूजा जैसे तैसे खिस-खिसकर दरवाजे पर आई और पड़ोसियों से इशारे में मदद की गुहार लगाई। पड़ोसियों ने जैसे ही बच्ची के हाथ-पैर बंधे और मुंह पर टेप लगी देखी तो मदद के लिए दौड़कर आए और उन्हें खोला। जिसकी सूचना उन्होंने मृतका की बेटी प्रिया को फ़ोन करके दी। सूचना पर डीएसपी हेडक्वार्टर अनिल कुमार और कैंप थाना प्रभारी कैलाशचंद पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे गए और घटना का जायजा लिया। पुलिस ने इस संबंध में मृतका की बेटी प्रिया की शिकायत पर अज्ञात लुटेरों के खिलाफ लूट व हत्या सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

बता दें कि प्रिया श्रीवास्तव के पिता सुभाषचंद माथुर रेलवे कॉलोनी से कुछ दूरी पर अलग मकान बनाकर रहते हैं। मृतक महिला मीरा के पति सुभाष चंद माथुर रेलवे में नौकरी करते थे और वर्ष 2014 में वीआरएस लेकर अपनी बेटी प्रिया को नौकरी पर लगाया था। पुलिस को दी शिकायत में प्रिया ने कहा है कि बुधवार सुबह वह आठ बजे के करीब अपनी ड्यूटी पर चली गई। करीब सवा 9 बजे उसे सूचना मिली की क्वार्टर में लूट हो गई है। पीड़िता ने जब मौके पर जाकर देखा तो उसकी मां मीरा देवी मृत अवस्था में पड़ी हुई थी और घर का सामान बिखरा पड़ा था। तीनों बच्चों के मुंह पर टेप लगी हुई थी और हाथ-पैर कपड़ों से बांधे हुए थे। मौके पर मौजूद सात वर्षीय पूजा (प्रज्ञा) ने बताया कि करीब आठ बजे तीन नकाबपोश आए और लूट करने लगे। बाहर आवाज नहीं जाए इसके लिए लुटेरों ने घर में रखे टेलीविजन की आवाज तेज कर दी। पीडिता की बेटी ने बताया कि मीरा देवी ने विरोध किया तो गला दबाकर उसकी हत्या कर दी और और उनके हाथ-पैर बांध कर मुंह पर टेप लगा दी। लुटेरे मीरा देवी के कानों में पहने हुए कुंडलों को लूट कर ले गए, इसके अलावा घर में रखे कीमती सामान को ले गए।

प्लानिंग के साथ आए थे बदमाश

पुलिस सूत्रों के मुताबिक बदमाश जिस तैयारी के साथ आए थे ऐसा प्रतीत होता है कि वह पहले से ही ट्रेंड अपराधी की तरह पहले ही प्लानिंग करके आए थे। बदमाश अपने साथ मुंह पर लगाने के लिए टेप भी साथ लाए। वहीं जिस प्रकार अलमारी का लॉकर काटा है उससे लगता है कि अपराधी ट्रेंड पहले से ही ट्रेंड थे। वहीं मृतका मीरा की बेटी प्रिया श्रीवास्तव का फिरोजाबाद निवासी पति प्रशांत के साथ अनबन चल रही थी। पिछले छह महीने से उसका पति अपने गांव में ही उससे अलग रहा था, पुलिस टीम उससे भी पूछताछ करेगी।

राम भरोसे है रेलवे कालोनी की सुरक्षा

कालोनीवासियों ने बताया कि पलवल की रेलवे कालोनी के निकट आरपीएफ और जीआरपी चौकी स्थित है, फिर भी कालोनी की सुरक्षा राम भरोसे है। इस क्षेत्र में आए दिन कोई न कोई वारदात होती रहती है। कालोनी की सुरक्षा को लेकर कुछ दिन पहले निरीक्षण पर आए रेलवे के डीआरएम डिम्पी गर्ग के सामने भी कालोनीवासियों ने उठाया। इससे पहले भी कई बार यह मुद्दा उठाया जा चुका है, लेकिन सुरक्षा के नाम पर केवल खानापूर्ति ही हो रही है। रेलवे कालोनी की सुरक्षा न होने के कारण आपराधिक प्रवृति के लोग यहां वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूमते रहते हैं। कालोनी में सुरक्षा की कमी का मुख्य कारण क्वार्टरों में बाहरी लोगों को रहने से भी है। अतिरिक्त आमदनी के लालच में रेलवे के ही कर्मचारियों ने अपने क्वार्टर बाहरी लोगों किराए पर दिए हुए हैं।

----

बुधवार की सुबह मंदिर पर था। जिसके बाद अपने दूसरे घर के सामने पड़ोसियों के साथ बैठा हुआ था। किसी ने सूचना दी थी कि उनकी बेटी के घर पर लूट हो गई है। बदमाशों ने मेरी पत्नी की हत्या कर दी और बेटी के बच्चों के भी हाथ पैर बांध दिए थे।

सुभाषचंद माथुर, मृतका का पति

----

मैं, बुधवार की सुबह फरीदाबाद अपनी ड्यूटी पर पहुंची ही थी कि किसी ने फ़ोन करके सूचना दी कि उनके घर पर लूट हुई है। घर आकर देखा तो उनकी मां बेड पर मृत अवस्था में पड़ी थी। बदमाश घर की अलमारियों का ताला तोड़कर कैश और जेवरात लेकर फरार हो गए।

प्रिया, मृतका की बेटी

----

कैंप थाना और किठवाड़ी चौकी पुलिस के अधिकारियों की बैठक लेकर मामले में प्रभावी ढंग से कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। पुलिस टीमें जांच में जुटी हुई है, जल्द ही आरोपी पुलिस गिरफ्त में होंगे।

राजेश दुग्गल, एसपी पलवल

ये भी पढ़ें

नूंह-पलवल रोड पर जिला कारागार बनकर तैयार, सीएम मनोहर लाल जल्द करेंगे उद्घाटन

Share On