`आपको इतनी बड़ी बगावत की भनक तक नहीं लगी`, एनसीपी ने शिवसेना के नेतृत्व पर दागे सवाल

महाराष्ट्र की राजनीति में शह-मात का खेल लगातार जारी है। एक ओर खुद उद्धव ठाकरे मंथन के लिए उतर गए हैं तो दूसरी ओर भाजपा भी सक्रिय हो गई है। शरद पवार ने एक दिन पहले एनसीपी नेताओं की मौजूदगी में सीएम उद्धव ठाकरे के साथ मीटिंग की और महाराष्टÑ सरकार पर छाए संकट के बादलों पर चर्चा की व आगे की रणनीति  भी बनाई।

Created By : Shiv Kumar on :25-06-2022 16:02:59 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

एजेंसी, मुंबई
महाराष्ट्र में सियासी संकट लगातार गहराता जा रहा है। वहीं अब पांचवें दिन उद्धव ठाकरे व और शिंदे गुट में शह व मात का खेल तेज हो गया है। वहीं महा विकास अघाडी सरकार की सहयोगी पर्टियों में मीटिंग का दौर जारी है। एक दिन पूर्व शरद पवार सहित एनसीपी नेताओं की सीएम उद्धव ठाकरे के साथ मीटिंग में सरकार पर संकट को लेकर चर्चा की गई व आगे की रणनीति बनाई। सूत्रों के अनुसार, इस मीटिंग में एनसीपी नेताओं ने शिवसेना के आला नेतृत्व पर ही सीधे सवाल दागे गए। एनसीपी नेताओं का कहना था कि शिवसेना में इतनी बड़ी बगावत हो गई पर उनके नेताओं को इस बात की भनक तक नहीं लग सकी। यह घटनाक्रम हैरान कर देने वाला है। वहीं, सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि कई बागी विधायक उनके संपर्क में हैं। वे एसएमएस के माध्यम से बातचीत कर रहे हैं। आशा है कि वो विधायक मुंबई आ जाएंगे तो फिर बार फिर से संपर्क साधेंगे व साथ देंगे।

ये भी पढ़ें

वादा तोड़कर अन्य युवती से रचाई शादी, गर्लफ्रेंड के नाराज पिता व भाई प्रेमी से लिया खौफनाक बदला

एनसीपी की मीटिंग के मुख्य सवाल
1. इतने बड़े स्तर पर बगावत हुई व शिवसेना का पूरा आला नेतृत्व कैसे अनजान बना रहा?
2. यह हैरान करने वाला है कि जो नेता 'वर्षा' (सीएम आवास) मीटिंग में शामिल हुए थे, वो बाद में बागी हो गए व गुवाहाटी रवाना होे गए।
3. जमीनी स्तर कार्य करने वाले कार्यकतार्ओं की ओर से प्रतिक्रिया क्यों नहीं दी जा रही हैं?

ये भी पढ़ें

युवक ने ग्लानि में की आत्महत्या, दबंगों ने पिला दिया था मलमूत्र

मीटिंग में उद्धव ठाकरे ने भी अपना पक्ष रखा
1. सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि एकनाथ शिंदे हमारे पास आए व दो मुद्दे रखे। पहला मुद्दा- फिर से भाजपा के साथ जाने पर विचार करें। दूसरा उन्होंने फंड व अन्य विकास के मसले पर विधायकों की बातें रखी। मैंने उस वक्त शिंदे से कहा कि भाजपा के साथ जाना मंजूर नहीं है पर फंड के मुद्दे पर चर्चा करेंगे।
2. उद्धव ठाकरे ने मीटिंग में सम्मलित होने वाले विधायकों के बागी हो जाने और गुवाहाटी जाने के तरीके पर भी अपना दुख सामने रखा।
3. उद्धव ठाकरे ने उम्मीद जाहिर की है कि जल्द ही बागी विधायक महाराष्ट्र आ जाएंगे। उनमें से कई विधायक वापस आ जाएंगे। उद्धव ठाकरे ने एनसीपी को ये भी बताया कि कई बागी विधायक रटर के माध्यम से उनसे बात कर रहे हैं व जवाब भी दे रहे हैं। इस वजह से मुझे उनके वापस आने की आशा है।
4. उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से कहा कि शुरू में किसी भी हिंसा या विरोध पर कैडर को निर्देश दिया गया था। संदेह था कि यह काउंटर प्रोडक्टिव साबित हो सकता है। पर भविष्य में कार्यकर्ता जमीन पर अपनी ओर से प्रतिक्रिया देंगे। पवार ने अंत में उद्धव ठाकरे से कानूनी सहित सभी विकल्प तलाशने को कहा है।

Share On