लापरवाही: अमरनाथ एक्सप्रेस को जाना था समस्तीपुर, पहुंच गई कहीं और...

बिहार के बेगूसराय में ड्राइवर की सूझबूझ से एक बड़ा रेल हादसा टल गया। बता दें कि अमरनाथ एक्सप्रेस ट्रेन रास्ता भटक गई। एक्सप्रेस ट्रेन को समस्तीपुर जाना था, लेकिन उसे हाजीपुर की ओर भेज दिया गया। लेकिन गनीमत रही की स्टेशन से 2 किलोमीटर आगे जाने के बाद ड्राइवर को रूट गलत लगा, तब उसने ट्रेन को रोककर स्टेशन मास्टर से बातचीत की, तो बड़ी गलती का एहसास हुआ।

Created By : Pradeep on :05-08-2022 15:22:06 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

बिहार के बेगूसराय में ड्राइवर की सूझबूझ से एक बड़ा रेल हादसा टल गया। बता दें कि अमरनाथ एक्सप्रेस ट्रेन रास्ता भटक गई। एक्सप्रेस ट्रेन को समस्तीपुर जाना था, लेकिन उसे हाजीपुर की ओर भेज दिया गया। लेकिन गनीमत रही की स्टेशन से 2 किलोमीटर आगे जाने के बाद ड्राइवर को रूट गलत लगा, तब उसने ट्रेन को रोककर स्टेशन मास्टर से बातचीत की, तो बड़ी गलती का एहसास हुआ। बताया जा रहा है कि सोनपुर रेल मंडल के बछवाड़ा जक्शन पर कार्यरत सहायक स्टेशन मास्टर की लापरवाही से अमरनाथ एक्सप्रेस ट्रेन की दिशा बदल गई, लेकिन ट्रेन चालक की सूझ-बूझ के कारण बड़ा हादसा होते-होते बच गया। इस घटना से बछवाड़ा जंक्शन पर कार्यरत पदाधिकारी और रेलकर्मियों में अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ट्रेन संख्या (15653) अमरनाथ एक्सप्रेस गुरुवार की सुबह गुवाहाटी से चलकर जम्मू तवी की ओर जा रही थी। यह ट्रेन बरौनी रेलवे जंक्शन से खुलने के बाद बछवाड़ा रेलवे स्टेशन के रास्ते समस्तीपुर रेलवे जंक्शन होते हुए जम्मूतवी को जाती है, लेकिन बछवाड़ा रेलवे जंक्शन पर स्टेशन अधीक्षक की लापरवाही के कारण ट्रेन विद्यापतिनगर हाजीपुर लाइन पर चली गई। जब आउटर आॅफ सिग्नल पार किया तो रेलवे चालक को लगा कि हम रास्ता भटक गए हैं, जिसके बाद चालक ने ट्रेन रोक कर बछवाड़ा रेलवे जंक्शन के कन्ट्रोल रूम से संम्पर्क किया। तब पता चला कि समस्तीपुर स्टेशन के बजाय हाजीपुर जंक्शन की ओर गाड़ी जा रही थी।

स्टेशन अधीक्षक ने अपने उच्च पदाधिकारी से संपर्क कर ट्रेन को दोबारा वापस बछवाड़ा जंक्शन पर बुलाया, जहां से समस्तीपुर के लिए रवाना किया गया। जब इस बात की खबर यात्रियों को लगी, तो उनके बीच अफरा तफरी का माहौल निर्मित हो गया। अमरनाथ एक्सप्रेस अहले सुबह 5:15 पर बछवाड़ा रेलवे जंक्शन के प्लेट फोर्म से गुजरी।

वहीं, करीब 6 बजे तक ट्रेन को वापस बछवाड़ा जंक्शन पर लाया गया और पुन: समस्तीपुर के लिए रवाना किया गया। ट्रेन के आगमन, वापस लौटाने और दोबारा समस्तीपुर के लिए रवाना करने में करीब 45 मिनट की देरी हुई। इस संबंध में सोनपुर रेल मंडल के सीपीआरओ वीरेंद्र कुमार ने बताया कि सहायक स्टेशन मास्टर ने गलत रूट दे दिया था। इस वजह से ड्यूटी पर तैनात सहायक स्टेशन मास्टर कुंदन कुमार और सूरज कुमार पर निलंबन की कार्रवाई की गई है और पूरे मामले की जांच की जा रही है। मामले की जानकारी होते ही रेल के पदाधिकारी बछवाड़ा जंक्शन पहुंचकर जांच में जुट गए हैं।

Share On