देश विरोधी गठजोड़ तोड़ने की कोशिश में एनआईए

एनआईए यानी राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने मंगलवार को हरियाणा सहित पांच राज्यों में तेरह स्थानों पर छापे मारकर गैंगस्टरों के आपसी गठजोड़ का पता लगाने का प्रयास किया।

Created By : ashok on :01-12-2022 14:48:55 संजय मग्गू खबर सुनें

संजय मग्गू
एनआईए यानी राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने मंगलवार को हरियाणा सहित पांच राज्यों में तेरह स्थानों पर छापे मारकर गैंगस्टरों के आपसी गठजोड़ का पता लगाने का प्रयास किया। एनआईए इससे पहले भी दो बार छापेमारी कर चुकी है। हर बार के छापों में एनआईए कुछ न कुछ सफलता जरूर मिली है। इन छापों के दौरान संगठित अपराधी गिरोहों और उनके नेटवर्क का पता तो लगाया ही जा रही है, बल्कि बड़ गैंगस्टरों, उनके अपराधी और व्यापारिक साथियों को भी पकड़ने का प्रयास किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें

चर्चित होने का साधन बन गया है विवादित बयान

एनआईए का कहना है कि दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में कुशल चौधरी, विशाल मान, बिन्नी गुर्जर और रवि राजगढ़ जैसे बड़े गैंगस्टर सक्रिय हैं। कुख्यात गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई की गिरफ्तारी के बाद से ही एनआईए ने उत्तर भारत के विभिन्न गैंगस्टरों और अपराधियों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। पिछले कई वर्षों में गैंगस्टरों, स्मगलरों और आतंकी संगठनों ने एक दूसरे के साथ मिलकर काम करना शुरू कर दिया है। अब तो हालात यह है कि आतंकी संगठनों के इशारे पर ये गैंगस्टर नशीली दवाओं, हेरोइन, अफीम, गांजा, चरस के साथ हथियारों और विस्फोटक सामग्री की स्मगलिंग भी करने लगे हैं। इससे आतंकी संगठनों का काम आसान हो गया है। इन देश और समाज विरोधी संगठनों पर सरकार के लिए अंकुश लगाना अनिवार्य हो गया है।

आतंकी संगठन इस गठजोड़ का उपयोग टेरर फंडिंग के लिए कर रहे हैं। मनी लांड्रिंग के जरिये आतंकी संगठनों तक धन पहुंचाने का काम यही गठजोड़ कर रहा है। गैंगस्टर अब ड्रग स्मगलरों से वसूली तो कर ही रहे हैं, साथ ही साथ प्रदेश के बड़े व्यापारियों, उद्योगपतियों, डॉक्टरों, वकीलों और समाज के प्रतिष्ठित लोगों को डरा धमका कर रंगदारी वसूलने में लगे हुए हैं। इससे समाज में भय व्याप्त हो रहा है। कुछ लोगों ने तो इस गठजोड़ से डर कर उनकी नाजायज मांगों को मान भी लिया है। ऐसे में केंद्र और राज्य सरकारों ने एनआईए के जरिये गैंगस्टरों, स्मगलरों और आतंकी संगठनों के गठजोड़ को नेस्तनाबूत करने का फैसला लिया है। इसमें सरकार को काफी हद तक सफलता भी मिल रही है। देश विरोधी ताकतों का सिर कुचलने में सरकार का प्रयास सराहनीय है।

Share On