पूर्व विधायक ने जमीन हड़पने का लगाया आरोप, रुपये मांगने पहुंचे पीड़ित पर आरोपियों ने छोड़ा कुत्ता

क्षेत्र के दलित नेता व पूर्व विधायक रामरतन ने एक व्यक्ति पर जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं करने पर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग को शिकायत दी, जिसके बाद मुकदमा दर्ज किया गया।

Created By : Pradeep on :04-08-2022 16:49:25 पूर्व विधायक रामरतन खबर सुनें

देश रोजाना, पलवल
क्षेत्र के दलित नेता व पूर्व विधायक रामरतन ने एक व्यक्ति पर जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं करने पर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग को शिकायत दी, जिसके बाद मुकदमा दर्ज किया गया। पूर्व विधायक रामरतन ने शिकायत दी है कि उन्होंने अपने भाइयों के साथ शमशाबाद में अपनी 2810 वर्ग गज जमीन का सौदा एक करोड़ 65 लाख में गांव सिहौल के रहने वाले सरूप सिंह के साथ किया था। सरूप फिलहाल प्रकाश नगर में रहता है। जमीन के इकरारनामे में 30 लाख रुपये नकद व दस लाख का चेक सरूप सिंह ने दिया था।

बकाया राशि रजिस्ट्री पर देनी तय की गई थी। रजिस्ट्री की तारीख वर्ष 2013 के मई माह में तय की गई थी। जब वह बैंक आफ महाराष्ट्र में चेक जमा करने गए तो चेक फर्जी पाया गया। आरोपित ने फर्जी चेक देकर उसके साथ धोखाधड़ी की। इसके बाद सरूप सिंह बार-बार आश्वासन देता रहा कि वह खाते में पैसे डाल देगा, मगर आरोपित ने आज तक रजिस्ट्री नहीं कराई है, ना ही बकाया राशि एक करोड़ 36 लाख दी। आरोपित ने उनकी जमीन पर छोटे-छोटे प्लाट काट दिए और उन्हें बेचकर पैसा हड़प लिया।

विधायक ने शिकायत में कहा है कि जब उनके भाई रामस्वरूप और रामप्रसाद पैसे की मांग करने आरोपित के घर जाते तो वह उन्हें भगा देता। कई बार आरोपित ने उनके साथ गाली-गलौज की और जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया। इसके कारण सदमें से एक साल के अंदर दोनों भाईयों की मौत हो गई।

भाइयों की मौत के बाद पूर्व विधायक आरोपित के गांव सिहौल और प्रकाश नगर स्थित घर जाते तो आरोपित उन्हें जान से मारने और झूठे मामले में फंसाने की धमकी देता। उन्हें जातिसूचक शब्दों से अपमानित करता। आरोपित ने एक बार अपना पालतू कुत्ता उनके पीछे छोड़ दिया, जिससे वह मुश्किल से अपनी जान बचाकर भागे।

Share On