हाई वोल्टेज लाइन का तार टूटने से जिंदा जला युवक, मौत

बिजली निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही का खामियाजा युवक को अपनी जान देकर चुकाना पड़ा। यदि समय से बिजली के तारों की मरम्मत हो जाती तो यह हादसा टल सकता था।

Created By : Pradeep on :11-05-2022 18:08:46 युवक की मौत के बाद विलाप करती महिलाएं, ग्रामीणों द्वारा किया हुआ रोड जाम और जमा भीड़ व सडक पर पड़ा हुआ हाई वोल्टेज लाइन का तार। खबर सुनें

देश रोजाना, पलवल
बिजली निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही का खामियाजा युवक को अपनी जान देकर चुकाना पड़ा। यदि समय से बिजली के तारों की मरम्मत हो जाती तो यह हादसा टल सकता था। गांव जटौला से बाइक पर दूधोला ड्यूटी पर जा रहे 28 वर्षीय सिक्योरिटी गार्ड पर हाई वोल्टेज लाइन का तार टूटकर गिर गया और करंट लगने से युवक की मौके पर ही मौत हो गई। जिसके बाद गुस्साए परिजनों और ग्रामीणों ने जटौला-असावटी रोड पर जाम लगा दिया। घटना की सूचना मिलने पर पलवल एसडीएम वैशाली सिंह और एसपी मुकेश मल्होत्रा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। प्रशासन और बिजली निगम के अधिकारियों के आश्वासन के बाद जाम को खुलवाया गया।

ये भी पढ़ें

Suhagrat पर पति की हरकत से चीखने-चिल्लाने लगी दुल्हन, बुला ली पुलिस, जानें हैरान करने वाला पूरा मामला

ग्रामीणों का कहना है कि जिन बिजली तारों से हादसा हुआ है, वे कई दिन से काफी नीचे लटके हुए थे और उनमें स्पार्किंग हो रही थी जो आज टूट कर गिर गया। ग्रामीण बिजली निगम और प्रशासन के अधिकारियों से पूरे मामले में जवाब मांग रहे हैं। जानकारी के अनुसार, जटौला गांव निवासी सुनील कुमार (30) बुधवार को सुबह अपने घर से बाइक पर सवार होकर ड्यूटी जाने के लिए निकला था। गांव के निकट से ही बिजली की हाईटेंशन की लाईन जा रही है।

ये भी पढ़ें

कैंटर में पशुओं को क्रूरता पूर्वक ले जा रहे दो तस्कर गिरफ्तार

जब सुनील जटौला-असावटी मार्ग पर हाईटेंशन लाइन के नीचे से गुजर रहा था, उसी समय अचानक हाईटेंशन लाईन का एक तार टूट कर उसके ऊपर गिर पड़ा। जिससे सुनील बिजली के तार में दौड़ रहे करंट की चपेट में आ गया। करंट इतना था कि सुनील व उसकी बाइक में आग लग गई। आसपास के लोगों ने जब घटना को देखा तो दौड़कर वहां पहुंचे और पानी डालकर आग को बुझा दिया। देखते ही देखते मौके पर काफी संख्या में गांव के महिला-पुरुष एकत्रित हो गए। इसी दौरान सूचना मिलने पर सुनील के परिजन भी मौके पर पहुंच गए। मामले की सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला नागरिक अस्पताल भिजवाने का प्रयास किया तो ग्रामीणों ने उनका विरोध शुरू कर दिया और शव को मौके से नहीं उठाने दिया।

ये भी पढ़ें

हथीन चौकी में ईएएसआई ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

परिजनों व ग्रामीणों का कहना था कि बिजली विभाग की लापरवाही से सुनील की मौत हुई है, पहले मौके पर दोषी बिजली कर्मियों को बुलाया जाए और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। करीब दो घंटे तक ग्रामीण वहां हंगामा करते रहे और शव मौके पर ही जटौला-असावटी मार्ग पर रख दिया। इस बीच ग्रामीणों के रोष को देखते हुए पलवल के एसपी मुकेश मल्होत्रा और एसडीएम वैशाली सिंह मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाया। उन्होंने आश्वासन दिया कि जिम्मेदार बिजली निगम कर्मियों व अधिकारियों पर कार्रवाई होगी। बाद में शव को नागरिक अस्पताल भेजा गया।

ये भी पढ़ें

विदेश जाने के लिए अभिनेत्री जैकलीन ने दिल्ली हाईकोर्ट से लगाई गुहार

सुनील इकलौता चिराग था
सुनील कुमार परिवार का इकलौता चिराग और दो बहनों का भाई था। उसकी शादी हो चुकी थी। उसकी मौत से परिवार का इकलौता कमाने वाला चला गया है। वह दो बच्चों का पिता था। दूधोला की एक प्राइवेट फैक्ट्री में काम कर परिवार का पालन पोषण कर रहा था।

----

पिछले कई दिनों से इस लाइन में स्पार्किंग हो रही थी। कई बार बिजली निगम के कर्मचारियों से शिकायत भी की थी। अधिकारी लाइन को ठीक करने की बजाय मौके से वापस लौट जाते थे।


सुरजीत, ग्रामीण

----

परिवार की लाठी टूट गई। बिजली निगम की लापरवाही ने उसकी जान ली है। जिम्मेदारों पर हत्या का केस दर्ज होना चाहिए। इस तरह के हादसों को रोकने के लिए सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

रामपत, मृतक का चाचा

----

मृतक के परिजन को सरकारी नौकरी और मुआवजा देने की निगम और सरकार का जो नियम नीति है, उसके तहत मुआवजा जरूर दिया जाएगा। नौकरी को लेकर भी कदम उठाएंगे।

जोगेंद्र हुड्डा, अधीक्षण अभियंता, बिजली निगम पलवल

Share On