ओवैसी पर हमला करने वाले की सीएम योगी और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के साथ तस्वीर वायरल

यूपी पुलिस ने एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर हमले के दोनों आरोपियों को पकड़ लिया है। इनमें से एक नोएडा के बादलपुर का निवासी है और दूसरा हमलावर सहारनपुर का निवासी है। एक आरोपी लॉ का छात्र रहा है, इसने बीजेपी की सदस्यता भी ली थी। वहीं दूसरा हमलावर 10वीं का छात्र रहा है।

Created By : Shiv Kumar on :04-02-2022 11:30:57 असदुद्दीन ओवैसी खबर सुनें

एजेंसी, हापुड़।

यूपी पुलिस ने एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर हमले के दोनों आरोपी शुभम और सचिन पंडित को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। साथ ही पुलिस ने दोनों से पूछताछ कर रही है। शुरुआती जानकारी के अनुसार हमलावर सचिन पंडित ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना इलाके का निवासी है। सचिन के पिता विनोद पंडित दुरयाई गांव निवासी प्राइवेट कंपनियों में ठेकेदार हैं। सचिन लॉ का छात्र रहा है। आरोपी सचिन ने भाजपा की सदयस्ता ग्रहण की हुई थी। इसकी स्लिप को सचिन ने सोशल मीडिया पर डाला हुआ है। सचिन की फोटो सोशल मीडिया पर सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टीसीएम दिनेश शर्मा, सांसद महेश शर्मा सहित विभिन्न भाजपा नेताओं के साथ वायरल हो रही है।

ये भी पढ़ें

Uttarakhand Election 2022: पीएम मोदी की वर्चुअल रैली रद्द, बारिश और बर्फबारी बनी वजह


इसके अलावा हमले का दूसरा आरोपी शुभम सहारनपुर निवासी है। शुभम 10वीं पढ़ा हुआ है व किसानी करता है। अब तक की जांच में पुलिस को शुभम का कोई आपराधिक इतिहास नहीं मिला है।पुलिस पूछताछ में सचिन व शुभम ने बताया है कि ये दोनों असदुद्दीन ओवैसी व उनके छोटे भाई की टिप्पणियों से काफी गुस्से में थे। फेसबुक, ट्विटर, सोशल मीडिया के जरिए वो दोनों ओवैसी भाइयों के भाषण सुनते थे व उनसे बेहद खफा थे। आरोपियों के कब्जे से कंट्री मेड मुंगेर टाइप पिस्टल बरामद हुई है। हालिया दिनों में इन दोनों इसे किसी से खरीदा था। उन लोगों के नाम भी सामने आए हैं। जिनसे इन्होंने ये हथियार खरीदा था। हथियार बेचने वालों को भी पुलिस जल्द अरेस्ट कर लेगी।
सचिन हिन्दू नाम से फेसबुक पर सचिन पंडित का प्रोफाइल है। उसमें सचिन ने स्वयं को हिन्दू संगठन का सदस्य होने का दावा किया है। ये सभी चीजें अब पुलिस की जांच में क्लियर हो सकेंगी। हापुड़ कोर्ट में शुक्रवार को दिन में 12 बजे के बाद दोनों आरोपियों को पेश करेगी। जहां पुलिस दोनों की हिरासत मांगेगी। साथ ही मामले को लेकर आज यूपी प्रेस वार्ता भी आयोजित करेगी।
गुरुवार की रात को करीब 5 घंटे तक ओवैसी पर हमला करने वाले आरोपी सचिन पंडित के परिजनों से ग्रेटर नोएडा पुलिस ने पूछताछ की। जहां आरोपी सचिन के पिता विनोद पंडित ने पुलिस को जानकारी दी कि वह 20 से 25 प्राइवेट कंपनियों में ठेकेदारी का कार्य करते हैं। वह इन कंपनियों को लेबर उपलब्ध कराते हैं। बेटा सचिन पंडित भी उनके इस कार्य में उनकी मदद करता है। गुरुवार को सुबह करीब 8 बजे सचिन घर से यह कहकर निकला कि वह कंपनी में बात करने के लिए जा रहा है। इसके अलावा वह दो-तीन दिन से थोड़ा भयभीत भी लग रहा था।


आपको बता दें गुरुवार शाम असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर दावा किया था कि मेरठ से वापसी के क्रम में उनकी कार पर 4 राउंड गोलीबारी की गई। ओवैसी ने कहा कि सभी जानते हैं कि टोल प्लाजा के निकट गाड़ी धीमी हो जाती है व इस दौरान हमलावर ने उन्हें निशाना बनाते हुए फायरिंग की। जब आरोपियों ने फायरिंग की तो हमारे चालक ने समझदारी दिखाई और बिना देर किए कार को भगा लिया। वहीं ओवैसी ने इन आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग उठाई है। इन लोगों ने मेरी हत्या करने का प्रयास किया।

Share On