महिलाएं बन सकती हैं आपके लिए फांसी का फंदा, लंकापति रावण ने बताए स्त्रियों के ये चार अवगुण

रावण रामायण का एक प्रमुख पात्र है। रावण लंका का राजा था और वह अपने दस सिरों के कारण भी जाना जाता है। तथा शास्त्रों के अनुसार, रावण महापंडित एवं महाज्ञानी था। जिसे प्रत्येक बात का ज्ञान था और रावण इतना ज्ञानी था कि, उसे पहले से ही अंदाजा लग जाता था कि, आगे क्या होने वाला है।

Created By : Mukesh on :25-03-2022 14:05:05 प्रतीकात्मक खबर सुनें

रावण रामायण का एक प्रमुख पात्र है। रावण लंका का राजा था और वह अपने दस सिरों के कारण भी जाना जाता है। तथा शास्त्रों के अनुसार, रावण महापंडित एवं महाज्ञानी था। जिसे प्रत्येक बात का ज्ञान था और रावण इतना ज्ञानी था कि, उसे पहले से ही अंदाजा लग जाता था कि, आगे क्या होने वाला है। रावण अपने कई गुणों के कारण भी जाना जाता है, जिसके कारण उसकी लोग प्रसंसा आज भी करते हैं। भले ही रावण एक राक्षस था, लेकिन माता सीता का अपहरण उसने मर्यादा में रहकर ही किया था। उसने अपनी छाया तक मां सीता पर पड़ने नहीं दी थी। लेकिन रावण की गलती थी कि, रावण को अपने अमर होने और सोने की लंका का बहुत ही ज्यादा घमंड था। इसलिए उनका सर्वनाश हो गया। लेकिन रावण ने स्त्रियों के विषय में ऐसी बातें बताई, जिन्हें जानकर आपको सदमा लग सकता है। रावण प्रकाण्ड ज्ञानी था, उसने महिलाओं के बारे में चार ऐसी गंदी बातें बतायी जोकि सत्य हैं और ये प्रत्येक महिला पर लागू होती हैं। तो आइए जानते हैं कि, रावण ने महिलाओं के बारे में कौन सी वो चार गंदी बातें बतायी थीं।
रावण ने प्राण त्यागने से पहले स्त्रियों के बारे में कहा था कि, स्त्रियां बहुत ही ज्यादा मतलबी होती हैं और वे अपना मतलब निकालने के लिए किसी भी हद तक जा सकती हैं। फिर चाहें आपके लिए उसे धोखा ही क्यों ना देना पड़ें, अथवा किसी को रास्ते से ही हटाना क्यों ना पड़े अथवा किसी अन्य व्यक्ति को उन्हें अपनाना ही क्यों ना पड़े। ऐसा स्त्री अपने लालच के चलते भी कर सकती है और इस तरह किसी भी लालच में बड़ी आसानी से फंस जाती हैं और आपको भी फंसा सकती हैं।
रावण ने यह भी बताया कि, स्त्री अपनी बात से शीघ्र ही पलट जाती हैं। ऐसे में स्त्री कभी सत्य नहीं बोलती हैं। यही कारण है कि, स्त्री के ऊपर काफी सोच विचार कर भरोसा करना चाहिए। ऐसे में स्त्री इधर-उधर की बात बहुत ही आसानी से कर देती हैं। इस तरह स्त्री लोगों के बीच में लड़ाई-झगड़े भी करवा देती हैं। ऐसे में आपको कोर्ट-कचहरी के चक्कर भी लगाना पड़ सकता है।
रावण ने प्राण त्यागने से पहले यह भी बताया कि, स्त्री के पेट में कोई भी बात नहीं छिपती है। भले ही आप स्त्री के सगे-संबंधी ही क्यों ना हों। वो आपका भंडा कभी ना कभी फोड़ ही देती है। ऐसे में स्त्री गुप्त राज को फैला देती हैं। इसीलिए कभी भी किसी भी स्त्री को अपनी गुप्त बात नहीं बताना चाहिए। अगर ऐसा किया जाए तो स्त्री हमारे विनाश का कारण बन सकती है।
रावण ने स्त्री के बारे में बताते हुए कहा कि, स्त्रियां किसी के भी बहकावे में बड़ी आसानी से आ जाती हैं और किसी के भी जाल में फंस जाती हैं। फिर चाहें वह एक मर्द हो या फिर एक औरत। ऐसे में दूसरे की बात में आकर स्त्रियां अपने घर का विनाश कर लेती हैं। स्त्रियां जब क्रोध में आती हैं तो वह सामने वाले को कभी नहीं छोड़ती। फिर चाहें वह उसका ही पति क्यों ना हो अथवा उसका ही पुत्र क्यों ना हो।
Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Desh Rojana Portal किसी भी अंधविश्वास और इन तथ्यों की किसी प्रकार से कोई पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों पर अमल करने से पहले संबंधित ज्योतिषी, आचार्य तथा विशेषज्ञ से संपर्क करें।

Share On