Road Rage Case: नवजोत सिंह सिद्धू को सरेंडर से फिलहाल राहत नहीं, सुप्रीम कोर्ट का जल्द सुनवाई से इनकार

रोड रेज मामले में नवजोत सिंह सिद्धू ने सुप्रीम कोर्ट से सरेंडर करने के लिए समय देने का अनुरोध किया है। इसपर जस्टिस ए एम खानविलकर की बेंच ने कहा कि सुनवाई के लिए चीफ जस्टिस एन वी रमना से अनुरोध करें।

Created By : Pradeep on :20-05-2022 13:31:40 नवजोत सिंह सिद्धू खबर सुनें

रोड रेज मामले में नवजोत सिंह सिद्धू ने सुप्रीम कोर्ट से सरेंडर करने के लिए समय देने का अनुरोध किया है। इसपर जस्टिस ए एम खानविलकर की बेंच ने कहा कि सुनवाई के लिए चीफ जस्टिस एन वी रमना से अनुरोध करें। सिद्धू के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने स्वास्थ्य कारणों से समर्पण के लिए कुछ हफ्तों का समय देने का अनुरोध किया है। चीफ जस्टिस ने अभी किसी भी मामले की मेंशनिंग सुनने से मना किया है। ऐसे में आज याचिका पर सुनवाई की उम्मीद न के बराबर है।

ये भी पढ़ें

महिला पुलिस की मौजूदगी में अवैध कॉलोनी व निर्माण पर चला बुलडोर, महिलाओं ने किया विरोध

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को नवजोत सिद्धू को 1988 के रोड रेज मामले में एक साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई थी। इस घटना में 65 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। शीर्ष अदालत ने कहा था कि कम सजा देने के लिए किसी भी तरह की सहानुभूति न्याय प्रणाली को अधिक नुकसान पहुंचाएगी और कानून के प्रभाव को लेकर जनता के विश्वास को कमजोर करेगी। सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कांग्रेस नेता सिद्धू ने ट्वीट किया था कि कानून का सम्मान करूंगा।

ये भी पढ़ें

सब्जियां महंगी होने से बिगड़ा रसोई के बजट का तड़का

आपको बता दें कि सिद्धू और उनके सहयोगी रुपिंदर सिंह संधू 27 दिसंबर, 1988 को पटियाला में शेरांवाला गेट क्रॉसिंग के पास एक सड़क के बीच में खड़ी एक जिप्सी में थे। उस समय गुरनाम सिंह और दो अन्य लोग पैसे निकालने के लिए बैंक जा रहे थे।

ये भी पढ़ें

बेटी को जन्म देने से नाराज पति ने पत्नी को जमकर पीटा, फिर दे दिया तीन तलाक

जब वे चौराहे पर पहुंचे तो मारुति कार चला रहे गुरनाम सिंह ने जिप्सी को सड़क के बीच में पाया और उसमें सवार सिद्धू और संधू को इसे हटाने के लिए कहा। इससे दोनों पक्षों में बहस हो गई और बात हाथापाई तक पहुंच गई। गुरनाम सिंह को अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई। अब इस मामले में सिद्धू को एक साल की सजा का ऐलान किया गया है।

Share On