फिल्म शूटिंग का हब बन गया उत्तराखंड: सतपाल महाराज

ग्रेटर नोएडा में साउथ एशिया टूर एंड ट्रेवल एग्जीबिशन (एसएटीटीई) 2022 का बुधवार को शुभारंभ हुआ। इस मौके पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा ‌कि पूर्व से ही फिल्मों की शूटिंग के लिए उत्तराखंड सबसे पसंदीदा राज्य रहा है।

Created By : Pradeep on :19-05-2022 13:28:22 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

देहरादून
ग्रेटर नोएडा में साउथ एशिया टूर एंड ट्रेवल एग्जीबिशन (एसएटीटीई) 2022 का बुधवार को शुभारंभ हुआ। इस मौके पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा ‌कि पूर्व से ही फिल्मों की शूटिंग के लिए उत्तराखंड सबसे पसंदीदा राज्य रहा है। बीते कुछ सालों में हुई सैकड़ों फिल्मों की शूटिंग से और फिल्म निर्माता निर्देशकों की बनी पसंद से उत्तराखण्ड फिल्म शूटिंग का हब बन गया है।

ये भी पढ़ें

पीएम गति शक्ति योजना में तेजी लाने के निर्देश, मुख्य सचिव  ने की संचालित कार्यक्रमों की समीक्षा

18 से 20 मई तक इंडिया एक्सपो मार्ट, ग्रेटर नोएडा, दिल्ली-एनसीआर में एसएटीटीई के 29वें संस्करण का आयोजन किया जा रहा है। इसका उद्देश्य टूर एंड ट्रेवल उद्योग के योग्य हितधारकों, खरीदारों और व्यापार के लिए यात्रा करने वालों, विवाह आयोजकों, कॉर्पोरेट यात्रा, हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्रीज के साथ-साथ प्रमुख टेलीविजन और फिल्म निर्माता संस्थाओं के लिए एक उपयुक्त व्यावसायिक अवसर प्रदान करना है।

ये भी पढ़ें

जेल से बाहर आ सकते हैं आजम खां, सुप्रीम कोर्ट ने इतने मामलों में दी अंतरिम जमानत

महाराज ने इस मौके पर उत्तराखंड पवेलियन का भी उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि सिनेमा एक शक्तिशाली माध्यम है और असंख्य लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा करती है। सिनेमा के व्यापक प्रभाव को समझते हुए उत्तराखंड ने फिल्म निर्माताओं के लिए एक औपचारिक नीति और दिशानिर्देश तैयार करने पर काम किया है। साल 2018 में 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में उत्तराखंड को मोस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट के अवॉर्ड से नवाजा गया और इसी साल नेशनल टूरिज्म अवार्ड समारोह में बेस्ट फिल्म प्रमोशन फ्रें‌डली अवार्ड से सम्मानित भी किया गया।

ये भी पढ़ें

केदारनाथ धाम में कुत्ते के साथ घूमने, नंदी को स्पर्श करने का मामला, थाने में दी तहरीर

जबकि वर्ष 2019 में 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में मोस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट का प्रथ‌म पुरस्कार दिया गया। उन्होंने कहा कि फिल्म निर्माता व निर्देशकों को सभी सुविधाएं आसानी से उपलब्ध कराने के लिए सिंगल विंडो सिस्टम लागू किया गया है। जिसके परिणामस्वरूप कई लोग फिल्म और कला संस्कृति से जुड़ रहे हैं। उत्तराखंड में फिल्मों की शूटिंग के लिए अनुकूल माहौल बनाया गया है। कहा कि उत्तराखंड फिल्म नीति बनने के बाद 2013 से अब तक करीब 600 फिल्में और धारावाहिकों को फिल्माया गया है।

Share On