Ludhiana: झुग्गी में आग लगने से पांच बच्चों सहित एक ही परिवार के सात लोग जिंदा जले, पूरे इलाके में मची चीख-पुकार

झुग्गी में भीषण आग लगने से पंजाब के लुधियाना में परिवार के सात लोग जिंदा जल गए। फिलहाल आग लगने की वजह पता नहीं चल सकी है। घटना के बाद पूरे क्षेत्र में मातम पसरा हुआ है। मौके से पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा रही है।

Created By : Shiv Kumar on :20-04-2022 12:02:50 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

एजेंसी, लुधियाना।
पंजाब के लुधियाना में टिब्बा रोड पर मक्कड़ कॉलोनी के क्षेत्र में एक दर्दनाक हादसा हो गया है। यहां कूड़े के ढेर के साथ लगती झुग्गी में मंगलवार देर रात में अचानक भीषण आग भड़क गई। इस आग में एक ही परिवार के सात लोग जिंदा जल गए। घटना की जानकारी पर मौके पर फायर ब्रिगेड की टीम के साथ पुलिस पुहंची। फायर ब्रिगेड की गाड़ी ने थोड़ी देर में ही आग पर काबू पा लिया। वहीं आग में जलकर झुग्गी में सो रहे एक ही परिवार के सात लोगों की दर्दनाक मौत हो गई और मौके पर चीख-पुकार मच गई। हादसे में मारे गए सभी मृत्तक बिहार के समस्तीपुर जिले के निवासी बताए गए हैं। इनमें एक दंपती समेत पांच बच्चे शामिल हैं।

ये भी पढ़ें

डीसीटीएम कॉलेज के छात्रों का एमएनसी कंपनियों में प्लेसमेंट


मृतकों की शिनाख्त सुरेश साहनी 55 वर्ष, पत्नी अरुणा देवी 52 वर्ष बेटी राखी 15 साल, मनीषा 10 साल, गीता 8 साल, चंदा 5 साल और बेटा 2 साल सन्नी के रूप में हुई है। इस हादसे में परिवार का बड़ा बेटा राजेश बच गया, वह रात अपने किसी मित्र के घर सोने के लिए चला गया था। राजेश ने बताया कि वो स्थाई तौर पर बिहार के समस्तीपुर जिला के निवासी हैं। उसके पिता सुरेश कुमार कबाड़ का कार्य करते थे। हमें नहीं पता था कि इतना दर्दनाक हादसा हो जाएगा।
भीषण हादसे की जानकारी मिलते ही सिविल अस्पताल से चिकित्सकों की टीम पहुंची। वहीं डीसी सुरभि मालिक और पुलिस कमिश्नर कौस्तुभ शर्मा भी मौके पर पहुंचे।

ये भी पढ़ें

Jahangirpuri Violence: आरोपियों ने एक दिन पहले ही इकट्ठी कर ली थी इंट, पत्थर और लाठियां, पुलिस को मिला बड़ा सुराग

पुलिस शवों को बाहर निकाल कर सिविल अस्पताल पहुंचाने के कार्य में जुट गई है। फिलहाल आग लगने की वजह पता नहीं चल सकी है। पुलिस आग कारण पता करने में लग गई है। मौके पर फोरेंसिक टीम भी पहुंच गई है। आपको बता दें कि गर्मी के मौसम में शहर में आग लगने के हादसे निरंतर बढ़ रहे हैं।

Share On