घर से बाहर रहने वाली महिलाओं की सेक्स लाइफ को लेकर सामने आया चौंकाने वाला डाटा, पुरुष रह गए काफी पीछे

नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 के डेटा पर आधारित एक नई रिपोर्ट सुर्खियों में है। जिसमें महिलाओं की सेक्सुअल एक्टिविटी से संबंधित कई जानकारियां हैं। सर्वे में समझने का प्रयास किया है कि किस आयु में महिलाएं व पुरुष सेक्सुअली रूप से अधिक सक्रिय होते हैं। सेक्स से संबंधित ये सभी डाटा तब चेंज हो जाते है, जब लोग घरों से बाहर रहते हैं।

Created By : Shiv Kumar on :19-05-2022 15:47:56 प्रतीकात्मक तस्वीर खबर सुनें

एजेंसी, दिल्ली
सेक्स पर बात करने से इंडिया में आज भी लोग बचते हैं। वैसे यही झिझक व शर्म कई बार लोगों को घातक रोग दे जाती है। नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 में इंडियनस में एचआईवी जैसी घातक बीमारियों के खतरे को जानने के लिए उनकी सेक्स लाइफ से संबंधित कई प्रश्न पूछे गए। जिसमें पहली बार सेक्स की आयु, सेक्सुअल पार्टनर्स की संख्या व सेक्स के लिए भुगताने करने जैसी बातें भी शामिल थीं। नेशनल फैमिली हेल्थ की रिपोर्ट में बताया गया है कि एक से अधिक सेक्सुअल पार्टनर, पति-पत्नी या घर में रह रहे पार्टनर के अतिरिक्त अन्य के साथ शारीरिक संबंध बनाने से एचआईवी से पॉजिटिव होने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है।

ये भी पढ़ें

नवजोत सिंह सिद्धू को रोडरेज केस में जेल, सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

सेक्सुअल पार्टनर्स की संख्या?
सर्वे में 15-49 वर्ष तक के महिला-पुरुषों से बीते 12 माह की सेक्स लाइफ से संबंधित प्रश्न किए गए। जिसमें सामने आया कि एक प्रतिशत से कम महिलाओं (0.3 प्रतिशत) व एक प्रतिशत पुरुषों ने एक से अधिक लोगों से शारीरिक संबंध बनाने की बात कबूल की। एक प्रतिशत से कम महिलाओं (0.5 प्रतिशत) और चार प्रतिशत पुरुषों ने कहा कि उन्होंने पति-पत्नी या घर में रह रहे शख्स के अतिरिक्त किसी अन्य के साथ शारीरिक संबंध बनाए। घर से एक माह या उससे अधिक वक्त के लिए बाहर रहने पर भी लोगों के एक से अतिरिक्त सेक्सुअल पार्टनर होने की संभावना प्रबल हो जाती है। ऐसे ही शिक्षित व अमीर भारतीयों में भी ये चलन अधिक देखने को मिल रहा है।

ये भी पढ़ें

टेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को पटियाला हाउस कोर्ट में दोषी करार दिया

यौन संबंध बनाने का अंतराल
सर्वे से पता चला कि महिला व पुरुष औसतन 7 दिन के अंतराल पर संबंध स्थापित करते हैं। अधिक आयु की महिलाओं में यौन संबंध बनाने का गैप बढ़ जाता है। जैसे 45 की आयु में महिलाओं में यौन संबंध बनाने का गैप सात दिन से बढ़कर 20 से 21 दिनों तक हो जाता है। वहीं पुरुषों में इसके ठीक इसके विपरीत ट्रेंड देखने को मिला है। 20 की आयु में 16 दिनों पर सेक्स करने का गैप 45 की आयु में घटकर आठ दिनों पर आ जाता है। सर्वे के अनुसार लंबे वक्त से मैरिड पुरुष व महिला अविवाहित लोगों की तुलना में कम यौन संबंध बनाते हैं।

ये भी पढ़ें

फिल्म शूटिंग का हब बन गया उत्तराखंड: सतपाल महाराज

घर से बाहर रहने पर आते हैं ये चेंज
सेक्स से संबंधित ये तमाम आंकड़े तब चेंज हो जाते हैं कि जब लोगों घरों से बाहर रहना पड़ता है। घरों से दूर रहने पर पुरुषों के मुकाबले महिलाएं अधिक यौन संबंध बनाती हैं। जब महिलाएं एक माह या उससे ज्यादा वक्त तक घर से दूर रहती हैं तो उनके सेक्सुअल पार्टनर्स की संख्या 1.7 के औसत की तुलना में 2.3 तक बढ़ जाती है। वहीं यह पुरुषों के लिए 2.1 ही रहती है। 56 प्रतिशत लड़कियों ने बताया कि घर से दूर रहने वो सेक्स करती हैं। घर से दूर रहने पर सिर्फ 32 प्रतिशत पुरुष ही यौन संबंध बनाते हैं।

ये भी पढ़ें

पीएम गति शक्ति योजना में तेजी लाने के निर्देश, मुख्य सचिव  ने की संचालित कार्यक्रमों की समीक्षा

सेक्स को लेकर भिन्न-भिन्न अनुभव
पुरुष और महिलाओं दोनों में सेक्स को लेकर ये अनुभव भिन्न-भिनन होते हैं। घर से बाहर रहने पर महिलाएं सेक्स पर अधिक प्रयोग करती हैं। सबसे ज्यादा संभावना यह होती है कि वो दो या दो से ज्यादा पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाएं या फिर घर से दूर पति के अतिरिक्त किसी अन्य से शारीरिक संबंध बनाए। वैसे काफी कम महिलाएं होती हैं जो मुल्य चुकाकर सेक्स का आनंद लेती हैं। पर अधिकतर पुरुष इस तरह के कार्य करते हैं। धन देकर सेक्स करने का ये आंकड़ा पुरुषों में 53 प्रतिशत जबकि महिलाओं में केवल तीन प्रतिशत ही है।

ये भी पढ़ें

जेल से बाहर आ सकते हैं आजम खां, सुप्रीम कोर्ट ने इतने मामलों में दी अंतरिम जमानत

महिलाओं के जल्द सेक्सुअली एक्टिव होने के कारण
सर्वे से ज्ञात हुआ कि पुरुषों के मुकाबले महिलाएं सेक्सुअली सक्रिय जल्दी हो जाती हैं। महिलाओं का जल्द सेक्सुअली एक्टिव होना कई बातों पर टिका होता है। एनएफएचएस की सूचना के अनुसार 15 वर्ष की आयु तक लड़कों के मुकाबले लड़कियों में सेक्स का अनुभव कर लेने की संभावना अधिक होती है। सर्वे के दौरान 25 से 49 वर्ष तक की महिलाओं से सवाल किया गया कि उन्होंने प्रथम बार यौन संबध कब स्थापित किए। तो उनमें से 10.3 प्रतिशत महिलाओं ने स्वीकार किया कि 15 वर्ष की आयु तक वो एक बार शारीरिक संबंध स्थापित कर चुकी थीं। वहीं, इस आयु में यौन संबंध स्थापित करने वाले पुरुषों का आंकड़ा 0.8 प्रतिशत था। इंडिया (भारत) में सहमति से सेक्स करने की आयु 18 वर्ष है पर इससे कम आयु की 6 प्रतिशत महिलाओं ने सर्वे में जानकारी दी कि वो इससे पहले ही यौन सबंध बना चुकी हैं। वहीं, 18 वर्ष से कम आयु के 4.3 प्रतिशत लड़कों ने ही स्वीकार किया कि उन्होंने सेक्स किया है।
इसकी वजह ये है कि सेक्स से संबंधित निणर्य में भी पुरुषों की ही मर्जी अधिक चलती है। कई महिलाएं यौन उत्पीड़न का शिकार भी बन जाती हैं। सर्वे के मुताबिक, महिलाओं के प्रथम बार सेक्स का अनुभव उनके स्कूली शिक्षा के साथ उनके सामाजिक तबके पर भी डिपेंड करता है।

Share On