शुक्र ग्रह की ये स्थिति जातक को पूरे जीवन अविवाहित रहने को कर देती है मजबूर, जानें इसके बारे में ये बड़ी बात

सभी जातकों का जीवन और उसके जीवन में आने वाले सुख-दुख, ऐश्वर्य, वैभव दांपत्य जीवन और परेशानियां उसकी कुंडली में मौजूद ग्रहों की स्थिति पर निर्भर करती हैं। कुंडली में मौजूद ग्रहों की स्थिति ही व्यक्ति को निर्धन और धनवान बनाती है। वहीं ग्रहों के कारण ही जातक दांपत्य जीवन का सुख भोगता है।

Created By : Mukesh on :04-02-2022 09:25:06 प्रतीकात्मक खबर सुनें

सभी जातकों का जीवन और उसके जीवन में आने वाले सुख-दुख, ऐश्वर्य, वैभव दांपत्य जीवन और परेशानियां उसकी कुंडली में मौजूद ग्रहों की स्थिति पर निर्भर करती हैं। कुंडली में मौजूद ग्रहों की स्थिति ही व्यक्ति को निर्धन और धनवान बनाती है। वहीं ग्रहों के कारण ही जातक दांपत्य जीवन का सुख भोगता है और वहीं कई लोगों के जीवन में दांपत्य जीवन का सुख नहीं मिलता, इसका कारण भी उस जातक की कुंडली में मौजूद ग्रह ही होते हैं। जोकि उसके जीवन को प्रभावित करते रहते हैं। तो आइए जानते हैं शुक्र ग्रह के बारे में, जोकि जातक के जीवन में वैवाहिक सुखों का दाता और सुन्दरता और सभी प्रकार की भोग विलास की जिंदगी प्रदान करता है और उसी शुक्र ग्रह की युति के कारण भी कई बार लोग अविवाहित रह जाते हैं अर्थात उन्हें वैवाहिक जीवन का सुख प्राप्त नहीं होता है।
यदि कुंडली में शुक्र राहु ,मंगल या बुध के साथ हो तो आप के पास अच्छा पारिवारिक जीवन नही होगा या कभी नही होगा यह थोड़े समय के लिए या बुढ़ापे में मिल सकता है। शुक्र आप को कई बार दोस्तो से प्यार भी कराएगा लेकिन राहु के प्रभाव से जातक को ईमानदार प्यार या ईमानदार दोस्त नही मिलेंगे। राहु के प्रभाव से आप भी ईमानदारी से प्यार नही कर पायेंगे। यदि राहु का प्रभाव शुक्र पर ज्यादा हो तो निवास स्थान में कोई दोष हो सकता जिस से परिवार में कलह और रोग हो सकते। जातक को कोई गुप्त बीमारी या त्वचा संबंधी रोग हो सकता। जीवन साथी से मनमुटाव भी रहेगा।
यदि कुंडली में शुक्र और मंगल साथ हो तो जातक अविवाहित रहता है।
शुक्र यदि किसी पाप ग्रह के साथ पंचम , सप्तम या नवम भाव में युति हो तो जातक अविवाहित रहता है अगर विवाह हो भी जाए तो जीवन साथी के वियोग से पीड़ित रहता है।
सप्तम और बाहरवें में दो या अधिक पाप ग्रह स्थित हो ओर पंचम भाव में चंद्र स्थित हो तो भी जातक का विवाह नही होता।
Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Desh Rojana Portal किसी भी अंधविश्वास और इन तथ्यों की किसी प्रकार से कोई पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों पर अमल करने से पहले संबंधित ज्योतिषी, आचार्य तथा विशेषज्ञ से संपर्क करें।

Share On