ईडी के सामने बोली अर्पिता मुखर्जी, कहा- मुझे घर पर रुपया रखने के लिए किया गया था मजबूर

अर्पिता मुखर्जी के घर से ईडी को लगातार भारी मात्रा में नोट बरामद हो रहे हैं। इस पर अर्पिता मुखर्जी ने अब चुप्पी तोड़ी है। ईडी के सामने उन्होंने कहा कि घर पर रुपया रखने के लिए मुझे मजबूर किया गया था। पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी ने उनके घरों को अवैध नकदी रखने के लिए इस्तेमाल करने की अनुमति देने को कहा था।

Created By : Pradeep on :28-07-2022 13:40:32 ईडी के सामने बोली अर्पिता मुखर्जी, कहा- मुझे घर पर रुपया रखने के लिए किया गया था मजबूर खबर सुनें

अर्पिता मुखर्जी के घर से ईडी को लगातार भारी मात्रा में नोट बरामद हो रहे हैं। इस पर अर्पिता मुखर्जी ने अब चुप्पी तोड़ी है। ईडी के सामने उन्होंने कहा कि घर पर रुपया रखने के लिए मुझे मजबूर किया गया था। पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी ने उनके घरों को अवैध नकदी रखने के लिए इस्तेमाल करने की अनुमति देने को कहा था। ईडी के सूत्रों के मुताबिक, मुखर्जी ने यह भी स्वीकार किया कि उनके आवास से बरामद नकदी को चटर्जी ने अपने एक अज्ञात सहयोगी की मदद से वहां रखा था। बता दें कि अर्पिता मुखर्जी ने कोलकाता के टॉलीगंज और बेलघरिया में उनके दो आवासों से लगातार दो बार भारी मात्रा में नकदी और सोना बरामद होने के बाद गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने यह कबूल किया है।

ईडी के एक अधिकारी ने कहा, अर्पिता ने कबूल किया है कि चटर्जी उसके टॉलीगंज और बेलघरिया दोनों आवासों में सप्ताह में एक या दो बार आते थे और उनके साथ एक अज्ञात व्यक्ति भी आया करता था। अधिकारी ने पुष्टि की, चटर्जी ने अर्पिता को अलमारी नहीं खोलने और उन कमरों में बार-बार आने से बचने का सख्त निर्देश दिया थे, जहां से नकदी बरामद की गई थी।

यह भी पता चला है कि चटर्जी जब भी अर्पिता मुखर्जी के आवास पर जाते थे, तो मंत्री अज्ञात व्यक्ति के साथ बंद कमरे में बैठक करते थे। उसमें अर्पिता को भाग लेने की अनुमति नहीं थी। एक ईडी अधिकारी ने कहा, बयान देते समय अर्पिता की आंखों से आंसू बह रहे थे और चह लगातार दावा कर रही थीं कि उनका शोषण किया गया। अब हमें उस अज्ञात व्यक्ति तक पहुंचना होगा, जो चटर्जी का साथ दे रहा था। वह कौन है, इसका जवाब केवल पार्थ चटर्जी ही दे सकते हैं।

Share On